जीजा आजम को लड़की अपहरण करके देता था उसका साला महरून.. वो भी नाबालिग


इस वारदात से रिश्ते तो शर्मशार हुए ही हैं, साथ ही जाहिल हैवानियत वाली सोच का शिकार होकर एक किशोरी की जिन्दगी भी तबाह हुई है. आज़म को महरून ने अपनी बहन का हाथ सौंपा था अर्थात आजम जीजा था महरून का. लेकिन इसके बाद महरून तथा आजम ने मिलकर हैवानियत का जो खेल खेला, उसे देख शर्म भी शर्मशार हो उठी. जीजा-साले आजम तथा महरून ने मिलकर एक किशोरी का अपहरण किया तथा दोनों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया.

मामला उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद के डिलारी थाना क्षेत्र के गांव का है जहाँ की करीब 15 वर्षीय किशोरी शुक्रवार शाम बजे घर से गायब हो गई. काफी समय तक किशोरी नहीं दिखी तो परिजनों को अनहोनी की आशंका सताने लगी. परिजन उसकी तलाश में जुट गए. देर रात किशोरी गांव के ही एक निर्माणाधीन तीन मंजिला मकान में बेहोशी की हालत में मिली. परिजन उसे वहां से उठाकर घर लाए. जहां होश में आने पर किशोरी ने बताया कि गांव के ही दो युवक आज़म तथा महरून उसका अपहरण करके ले गए थे.

किशोरी ने बताया कि दोनों ने निर्माणाधीन बंद मकान में उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया, बाद में लोगों की आहट सुनकर दोनों धमकी देते हुए भाग निकले. किशोरी की आपबीती सुनने के बाद परिवार के लोग देर रात एक बजे उसे लेकर डिलारी थाने पर पहुंच गए. जहां किशोरी के भाई ने आरोपियों के खिलाफ नामजद तहरीर दी. उन्होंने बताया कि दो साल पहले भी किशोरी को आरोपियों ने उस समय अगवा कर लिया था जब वह घर के पास ही कूड़ा डालने गई थी.

स संबंध में एसएचओ डिलारी सुरेंद्र पाल सिंह ने बताया कि तहरीर के आधार पर आरोपी महरून और आजम के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज किया गया है. आरोपियों की तलाश की जा रही है. उन्होंने बताया कि आरोपी आजम महरून का बहनोई है और काफी साल से गांव में ही रहता है. वहीं दबी जुबान में ये भी कहा जा रहा है कि ये दोनों पहले भी ऐसी वारदातों को अंजाम दे चुके हैं लेकिन लोकलाज के भय से किसी ने शिकायत दर्ज नहीं कराई. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...