बुलेरो में उठा ले गये एक महिला को शाहरुख निसार व 5 अन्य मिल कर और बेहोश होने तक किया बलात्कार.. असर दिखा रही नकली धर्मनिरपेक्षता

पिछले लगभग 10 दिन से पूरे देश में मासूम बच्चियों/महिलाओं के साथ हैवानियत, दरिंदगी तथा क्रूरता की ऐसी सिसिलेवार घटनाएँ सामने आई हैं, जिससे पूरा देश न सिर्फ शर्मशार है बल्कि आक्रोशित भी है. उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ की ट्विंकल की जिहादी जाहिद, असलम, तथा मेहंदी हसन द्वारा हैवानियत भरी क्रूरतम ह्त्या के अलावा बाराबंकी, बरेली, मेरठ, कानपुर, हमीरपुर, शामली, मुजफ्फरनगर, बनारस, जम्मू, राजस्था, बिहार तथा तमाम अन्य जगहों पर हैवानों द्वारा न सिर्फ मासूम बच्चियों/महिलाओं के साथ बलात्कार किया गया बल्कि कई जगह उनकी ह्त्या भी कई.

12 जून: बलिदान दिवस “बाबासाहब नरगुन्दकर” जो 1857 के स्वातंत्र्य समर में अत्याचारी “जेम्स मेंशन” की बलि चढा कर आज ही झूले थे फांसी पर

नारी अस्मिता को बेरहमी से कुचलने वाली ये घटना राजस्थान के भरतपुर जिले की है जहाँ 7 हैवानों द्वारा एक युवती का बुलेरो में अपहरण किया गया तथा उसके बाद उसके बेहोश होने तक क्रूरतम तरीके से बलात्कार किया. ये घटना सिकरी क्षेत्र में स्थित रुस्तमपुर गाँव की है जहाँ सात हैवान दरिंदो शाहरुख, जावेद, ताहिर, मोहम्मद अली, सालिम, निसार, इरशाद ने ननिहाल में रह रही युवती का अपहरण कर साथ पहले तो गैंगरेप किया और फिर उसे जंगल में छोड़ कर भाग निकले.

बच्चियों के बाद अब 6 साल का बच्चा बना हवस का शिकार.. दरिंदगी का चेहरा बना अमीर आलम

युवक ने पुलिस को दी शिकायत में बताया है कि 5 जून को उसकी भाभी और भांजी जंगल में शौच करने के लिए जा रहे थे, तभी गाँव में ही रहने वाले शाहरुख, जावेद, ताहिर, मोहम्मद अली, सालिम, निसार, इरशाद ने बुलेरो गाड़ी में उसकी भांजी का अपहरण कर लिया तथा जंगल ले जाकर उसके साथ गैंगरेप किया, जिससे उसकी भांजी बेहोश हो गई. इसके बाद बलात्कारी उसे जगंल में ही छोड़कर भाग गये. होश आने पर दर्द से कराहती युवती ने किसी से फोन माँग कर अपने मामा को कॉल किया और आपबीती सुनाई. इसके बाद जब वे उसकी बताई जगह पर पहुँचे तथा उसको लेकर आये व पुलिस में मामला दर्ज कराया.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share