घरों में दुबक गये हैं लोग, स्कूलों में रोक दिए गये हैं बच्चे… अचानक अशांत हुआ बुलंदशहर

कल तक पूरी तरह से शांत दिख रहा उत्तर प्रदेश का बुलंदशहर आज सुलग उठा है. दर्जनों की संख्या में गोकशी होने के बाद बुलंदशहर में जमकर बवाल हुआ है. इस बवाल में गोली लगने से जहाँ एक गोभक्त की मौत हो गई है, वहीं बुलंदशहर के सयाना थाना के कोतवाल सुबोध कुमार भी भीड़ के हमले का शिकार हो गये तथा बाद में उनकी भी मौत हो गई. इस समय बुलंदशहर में जहाँ चप्पे चप्पे पर पुलिस बल तैनात है तो वहीं डर के कारण लोग अपने अपने घरों में दुबक गये हैं.

बुलंदशहर के कुछ स्थानीय लोग इस बवाल का संबध बुलंदशहर में चल रहे तब्लीगी इज्तिमा से भी जोड़कर देख रहे हैं क्योंकि अचानक से इतने बड़ी संख्या में गायों को काटा गया, जिसके बाद ये बवाल शुरू हुआ और जमकर हिंसा आगजनी हुई. बवाला की शुरुआत तब हुई जब थाना कोतवाली क्षेत्र के गांव महाव के जंगल में रविवार की रात अज्ञात लोगों ने करीब 25-30 गोवंश काट डाले. जानकारी मिलने पर हिन्दू संगठन के लोग एकत्रित हुए तथा सभी ने इसका विरोध किया तथा प्रदर्शन शुरू हो गया और एक गोभक्त sumit तथा इंस्पेक्टर  सुबोध कुमार की मौत हो गई.

बुलंदशहर में कितनी भयावह थी, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि अतिरिक्त पुलिस बल को बुलाना पड़ा. फिलहाल पूरा क्षेत्र पुलिस के बूटों की आवाज से गूँज रहा है तथा भय के कारण लोग जम से गये हैं तथा क्षेत्र में कर्फ्यू से हालात है. मिली जानकारी के मुताबिक़, मामले की जांच के लिए विशेष टीम गठित कर दी गई है. इस मामले में दो FIR दर्ज करने की खबर भी मिली है, जिसमें एक FIR गोकशी के खिलाफ है तो वहीं दूसरी FIR पुलिस बल पर पथराव को लेकर है.

Share This Post