Breaking News:

अख़बार के मात्र 300 रूपये मांगे मन्नू वैष्णव ने रफीक से तो वो अंदर तो गया, पर पैसे लेने नहीं बल्कि ले कर आया कुछ और ..

सवाल अपने आप उठेंगे कि डरा कौन है और कौन डरा रहा है . अगर किसी जगह पर किसी पार्टी पर हिन्दुओ को बढाने का आरोप लगाया जाता है तो दूसरी जगह पर खुद को पोषित करने का आरोप क्यों न लगे . कांग्रेस की जीत के बाद जिस प्रकार से राजस्थान में मजहबी उन्माद की घटनाए बढ़ गई हैं उसकी चपेट में न सिर्फ समाज का मध्यम वर्गीय या उच्च वर्गीय हिस्सा आ रहा है बल्कि इसकी जद में अब निम्नवर्गीय लोग भी आने शुरू हो गए हैं .. भले ही वो अख़बार बांटने वाला हो .

राजस्थान की राजधानी जयपुर में न ही कोई पुरष्कार लौटने के लिए तैयार है और न ही कोई इस मामले में धरना प्रदर्शन आदि करने के लिए.. यहाँ पर अख़बार बांटने वाले एक हाकर ने जब रफीक से अपने 300 रूपये मांगे तब रफीक पैसे लाने की बात कर के घर के अंदर गया तो लेकिन ले कर आया कुल्हाड़ी और ठीक ISIS के आतंकियों के अंदाज़ में काट डाला उस गरीब मन्नू वैष्णव को जिसका परिवार अब यकीनन भूखों मरने की कगार पर आ गया है…

खोनागोरियान थाना क्षेत्र की शंकर विहार कॉलोनी में मन्नू वैष्णव अखबार बांटने का काम करता है। मन्नू वहीं रहने वाले रफीक के घर भी अखबार बांटता है। रफीक पिछले काफी समय से मन्नू को पैसे नहीं दे रहा था। मन्नू ने सुबह रफीक से पैसे मांगे तो वह आपा खो बैठा। वह कुल्हाडी ले आया और मन्नू पर वार कर दिए। वहां मौजूद कॉलोनीवासी हरकत में आ गए और उन्होंने रफीक को पकड लिया। गुस्साए लोगों ने रफीक को पीट दिया। पुलिस के आने पर लोगों ने रफीक को पुलिस के हवाले कर दिया।

Share This Post