चोरी करने के लिए नसीम अंसारी बाँध लेता था हाथ में कलावा और बदनाम होते रहे हिन्दू

एक तरफ पूरे भारत में तमाम प्रकार के धरना प्रदर्शन और जुलूस आदि निकाल कर सरकार को ये बताने की कोशिश हो रही है कि वो बहुत नेक और शरीफ हैं , साथ ही ये भी दिखाने की कोशिश चल रही कि उनको बेवजह प्रताड़ित किया जा रहा है और हर बार गलती किसी दूसरे वर्ग की ही होती है.. लेकिन वही दूसरी तरफ जो कुछ भी निकल कर एक के बाद एक सामने आ रहा है वो यही इशारा कर रहा है कि इतने शोर के पीछे कोई बहुत बड़ी साजिश है जिसके निशाने पर सहिष्णु समाज है ..

कांग्रेस शासित छत्तीसगढ़ में हिन्दू महिला को मिली धमकी- “घर छोड़ कर भाग जाओ, यहाँ बनेगी मस्जिद वर्ना तेरी बेटी का होगा बलात्कार”

विदित हो कि हिन्दुओ के खिलाफ तमाम साजिशों में एक बड़ी साजिश का भंडा खुद हिन्दुओ ने ही बिना पुलिस की मदद के फोड़ दिया है . जनता ने जागरूक हो कर एक ऐसे चोर को पकड लिया है जो हाथ में कलावा बाँध कर अपना नाम राजू बता कर हिन्दुओ के घर में चोरी करने जाता था.. ये दुस्साहसिक और साजिशन घटना है रघुबर दास शासित झारखंड प्रदेश की जो पहले से मॉब लिंचिंग के झूठे आरोपों के चलते हर कहीं पूरी सोची समझी साजिश के तहत बदनाम किया जा रहा है ..

कांग्रेस में छोड़ रहे हैं तमाम बड़े नाम अपनी- 2 जिम्मेदारी ? राहुल गाँधी के बाद अब ज्योतिरादित्य सिंधिया

ध्यान देने योग्य है कि झारखंड के धनबाद जिले के चिरकुंडा स्थित तालडंगा हाउसिंग कॉलोनी में गत शनिवार को तब सनसनी फ़ैल गई जब प. बंगाल के कुल्टी का चोर जनता द्वारा ही रंगे हाथ पकड़ा गया. मॉब लिंचिंग के जनक ज्यादा शोर न मचाएं इसलिए जनता सतर्क थी और उसके साथ मारपीट भी बहुत कम हुई .. जब उसकी जानकारी ली गई तो उसने अपना नाम बताया कि वह राजू है. इसके साथ उसने बाकायदा हाथ में कलावा भी बांध रखा था। लेकिन जब गहराई में जा कर पड़ताल हुई तो पता चला कि उसका असली नाम नसीम अंसारी है।

चोरी करने के लिए नसीम अंसारी बाँध लेता था हाथ में कलावा और बदनाम होते रहे हिन्दू

हिंदू बन वह पटेल तिवारी के घर में चोरी को अंजाम दे रहा था। पिटाई करने के बाद जनता ने पुलिस के हवाले कर दिया।  तालडंगा हाउसिंग कॉलोनी के बंद घरों में समय-समय पर चोरी की घटनाएं होती रहती है। पटेल तिवारी के बंद पड़े क्वार्टर में दीवाल फांद कर चोर प्रवेश कर रहा था। तभी लोगों की नजर पड़ी। शोर मचाने पर वह दीवाल फांद कर छुप गया। इसके बाद लोगों ने उसे पकड़ लिया। इसके बाद पिटाई शुरू हुई। पिटाई शुरू होते ही चोर ने माफी मांगनी शुरू की। इसके बाद लोगों ने पुलिस को बुलाकर साैंप दिया।

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW