जानिये किसके लिए आया है देवगौड़ा का बयान कि – “बहुत हुआ 6 महीने, अब नहीं सह पाउंगा”

कर्नाटक में कांग्रेस तथा जेडीएस की सरकार में चल रही आंतरिक कलह अब खुलकर बाहर आने लगी है. मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी कई बार अपने दिल की पीड़ा को जाहिर कर चुके हैं कि वह कांग्रेस के दवाब में हैं. हाल ही में कुमारस्वामी ने ये भी कहा था कि अगर कांग्रेस के विधायक नहीं सुधरे तो वह इस्तीफा दे देंगे. कुमारस्वामी के इस बयान के बाद राज्य में सियासी खलबली मच गई थी. लेकिन अब कुमारस्वामी के पिता और देश के पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने भी बड़ा बयान दिया है, जिससे एक बार फिर से सियासी भूचाल मच गया है.

जेडी(एस) मुखिया देवगौड़ा ने कहा है कि इस गठबंधन को केवल छह महीने हुए हैं और इस दौरान उन्होंने सबकुछ देख लिया है. देवगौड़ा ने कहा है कि वह अब तक तो चुप थे, लेकिन अब उन्हें अपना मुंह खोलना पड़ रहा है. यही नहीं, देश के पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं पीड़ा में हूं. आज कुमारस्वामी को मुख्यमंत्री बने छह महीने पूरे हो गए. इन छह महीनों में हमने सबकुछ देख लिया है. मैंने अब तक अपना मुंह नहीं खोला था, लेकिन अब मैं चुप नहीं रह सकता.

उन्होंने आगे कहा कि यह गठबंधन चलाने का कौन सा तरीका है कि आपको रोज गठबंधन के अपने सहयोगी से निवेदन करना पड़े कि कोई असंसदीय टिप्पणी न करे. बता दें कि इससे पहले उनके बेटे और राज्य के मुखिया एचडी कुमारस्वामी भी कांग्रेस विधायक की टिप्पणी पर बिफर गए थे. कांग्रेस के विधायकों ने कहा था कि उनके सीएम तो सिद्धारमैया ही हैं, जो इससे पहले राज्य में सीएम थे. कांग्रेस नेता और उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर ने भी कहा था कि सिद्धारमैया ही कर्नाटक के सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री हैं. इसपर गुस्साए कुमारस्वामी ने कहा था कि वह अपना पद छोड़ने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा था कि कांगेस को अपने विधायकों की जुबान पर लगाम लगानी चाहिए.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW