“तुम पर सिर्फ मेरा ही नहीं, मेरे अब्बा का भी उतना ही हक़ है”… यही बोला अपनी बीबियों से उन दोनों भाइयों ने

ससुर के लिए उसकी बहू अर्थात पुत्रवधू बेटी के सामान होती है लेकिन उन दोनों बहनों का ससुर उनके साथ अपनी हवस मिटाना चाहता था. दोनों मुस्लिम बहनों के शौहर ने भी उनसे कह दिया कि तुम पर जितना मेरा हक़ है, उतना ही अब्बू का भी है. लेकिन जब वो दोनों बहनें नहीं मानी तो उनको तीन तलाक दे दिया गया तथा इसके बाद ससुर के साथ हलाला का दबाव बनाया गया.  इसके बाद दोनों बहनों से पुलिस में शिकायत दर्ज करा कार्यवाई की मांग की है.

मामला उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर कोतवाली देहात के गाँव का है. पीड़िताओं के पिता ने कोतवाली देहात में दी तहरीर में कहा कि उनकी दो पुत्रियों का निकाह धमैड़ा अड्डा क्षेत्र में रहने वाले दो सगे भाइयों के साथ हुआ था. आरोप है कि निकाह के बाद से ही ससुर दोनों पुत्रियों पर गलत नीयत रखने लगा. छेड़छाड़ के साथ ही उसने दोनों पुत्रियों के साथ दुष्कर्म का प्रयास भी किया. पुत्रियों के विरोध पर उसने अपनी पत्नी और पुत्रों से उनकी पिटाई भी कराई और उन्हें घर से निकलवा दिया. आरोप है कि 20 अक्टूबर को दोनों दामाद उसके घर आए और वहीं दोनों पुत्रियों को तलाक दे दिया. आरोपियों ने दोनों पुत्रियों के साथ मारपीट भी की और धमकी देते हुए चले गए.

उन्होने बताया कि बीते दिनों दोनों दामाद पुन: घर आए और उसकी पुत्रियों से फिर से निकाह करने की बात कहते हुए पिता के साथ हलाला करने के लिए दबाव बनाया. दोनों पुत्रियों ने ससुर के साथ हलाला से इनकार कर दिया. 19 नवंबर की शाम को एक आरोपी दामाद घर में घुस आया और उसकी पुत्री से जबरन शारीरिक संबंध बनाने का प्रयास किया. इनकार करने पर आरोपी ने उसकी पुत्री से मारपीट की और घर से एक बच्चे को लेकर फरार हो गया. बाद में बालक को कहीं छोड़कर आरोपी दामाद पुन: घर आया और उसकी पुत्री से अश्लीलता करते हुए मारपीट की. पीड़िता ने देहात पुलिस से रिपोर्ट दर्ज कर आरोपियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है.

Share This Post

Leave a Reply