बहू से थे मौलवी के शारीरिक रिश्ते… बीबी ने टोका तो उसकी जिन्दगी हुई तबाह

उत्तर प्रदेश के बरेली के बहेड़ी थाना क्षेत्र से से तीन तलाक का एक बेहद ही शर्मनाक तथा सनसनीखेज मामला सामने आया है जहाँ एक मौलवी ने अपनी बीबी को इसलिए तीन तलाक दे दिया क्योंकि मौलवी के अपनी बहू अर्थात अपने बेटे की बीबी से शारीरिक संबंध थे और मौलवी की बीबी उसके अवैध संबंधों में बाधा बनती थी. इसके बाद बरेली के बहेड़ी थाना में पीड़िता अर्जुमंद जाफरी ने अपने शौहर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है तथा अपने लिए न्याय माँगा है. पीडिता का पति एक मदरसे का मौलवी है.

अर्जुमंद जाफ़री का कहना है कि उसका शौहर एक मदरसे का संचालक है. पीड़ित महिला के अनुसार, उसका निकाह 19 साल पहले सितारगंज के ग्राम बघोरी के रहने वाले सय्यद सिराज अहमद उर्फ़(मुन्ने मियाँ) से हुआ था. वह बहेड़ी की रहने वाली है. अर्जुमंद जाफ़री का कहना है कि जब सय्यद सिराज अहमद से उसका निकाह हुआ था, तब सय्यद सिराज अहमद को उसकी पहली बीवी से 8 बच्चे थे. उस बीवी की मौत हो गई थी, तो मेरे साथ निकाल पढ़ाया गया. लेकिन सिराज ने मेरे परिजनों से यह बात छिपाई कि उसके 8 बच्चे भी हैं. धोखा देकर मुझसे विवाह किया. फिर भी मैंने उन सभी बच्चों को सगी माँ जैसा ही प्यार दुलार किया.”

पीड़िता अर्जुमंद जाफ़री ने आगे बताया कि इस दौरान उसके भी तीन बच्चे हुए. पीड़िता ने बताया कि हमारे निकाह के कुछ वर्षों बाद मुझे पता चला कि सिराज के अन्य महिला से भी संबंध हैं. इसे लेकर हमारे बीच अनबन होने लगी. विरोध करने पर सिराज पीट देता था. अर्जुमंद जाफ़री कुछ समय पहले सिराज के बड़े बेटे का निकाह हो गया, तो सिराज ने बड़े बेटे की बीवी से भी अवैध संबंध बना लिए. मैंने उसका भी विरोध किया तो बुरी तरह पीटा. मैं उसे उस अवैध संबंध में बाधा लगी तो तीन तलाक कहकर घर से धक्के मारकर भगा दिया. पीड़िता ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराकर अपने लिए न्याय माँगा है.

Share This Post

Leave a Reply