रैपिड एक्शन फ़ोर्स उतरी अलीगढ़ AMU कैम्पस में.. 800 से ज्यादा कश्मीरी छात्रो को मिला है युनिवर्सिटी का ये आदेश

ये वही युनिवर्सिटी थी जहाँ कुछ दिन पहले जिन्ना की फोटो बनी हुई थी राष्ट्रीय चर्चा का विषय और जिन्ना भक्त और देशभक्त के 2 धड़े बंट गये थे लेकिन अचानक ही देश के माहौल ने करवट ली . JNU के बाद अगर कोई युनिवर्सिटी मीडिया की सुर्खियाँ बनी रही तो वो थीं AMU .. इस युनिवर्सिटी में कई कश्मीरी छात्र पढ़ते हैं और धारा 370 हटाए जाने के बाद हलचल स्वाभाविक मानी जा रही थी जिसके चलते यहाँ पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गये थे..

संसद की कार्यवाही से पहले ही यहाँ पर उत्तर प्रदेश प्रशासन की नजर रही थी और सोमवार सुबह कश्मीर में धारा 370 हटाने के प्रस्ताव पर मुहर लगने के बाद कैंपस के बाहर भारी संख्या में आरएएफ समेत पुलिस बल तैनात रहा। कैंपस में करीब 800 कश्मीरी छात्र-छात्राएं पढ़ते हैं . युनिवर्सिटी प्रशासन समेत अन्य अधिकारियों ने सभी हॉलों के प्रोवोस्ट व कश्मीरी छात्रों के साथ बैठक की। जिसमें कहा कि कश्मीरी छात्रों को किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े। अलीगढ़ में कई जगहों पर जश्न भी मनाये गये हैं ..

जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटने के बाद एएमयू इंतजामिया की ओर से छात्र-छात्राओं को एडवाइजरी जारी कर किसी भी तरह की टिप्पणी न करने के निर्देश दिए गए हैं। सोमवार को कश्मीरी छात्रों को कैंपस से बाहर कदम न करने की सलाह दी है। कहा कि कैंपस का माहौल शांतिपूर्ण है। अलीगढ़ का जिला प्रशासन भी इस तरफ लगातार नजर रखे हुए हैं .कैंपस में आने-जाने वाला हर शख्स कड़ी सुरक्षा के बीच अपने गंतव्य तक पहुंचा। डीएम चंद्रभूषण सिंह व एसएसपी आकाश कुलहरि ने सुबह से ही सर्किल पर निगाहें बनाए रखी..

Share This Post