Breaking News:

धारा 370 हटाने के बाद कश्मीर में उठाया गया दूसरा बड़ा कदम.. वो कदम जिनकी राष्ट्रभक्त कर रहे थे वर्षो से मांग और सुरेश चव्हाणके जी कर चुके हैं बिंदास बोल

ये वो कदम था जिसकी राष्ट्रप्रेमी एक लम्बे समय से मांग कर रहे थे. ये वो कदम था जो राष्ट्र के दुश्मनों के मुह अपने आप बंद कर देगा और पाकिस्तान की परस्ती करने वालों को एक साफ़ संदेश देगा कि अब भारत में सत्ता और माहौल दोनों बदल चुका है . देश के खिलाफ बोलने वाले को किसी भी रूप में आतंकियों से कम न माना जाय इसकी मांग बहुत पहले से चल रही थी और अब सरकार ने उस पर करना शुरू किया है अमल.. इस अमल की शुरुआत फारुक अब्दुल्ला से की गई है .

विदित हो कि अपने पाकिस्तान परस्ती और भारत विरोधी बयानों को ले कर चर्चा में रहने वाले फारुख अब्दुल्ला को PSA के तहत हिरासत में ले लिया गया है . मोदी सरकार के इस कदम को धारा 370 हटाने के बाद दूसरा सबसे बड़ा कदम माना जा रहा है . सुदर्शन न्यूज के प्रधान सम्पादक श्री सुरेश चव्हाणके जी ने फारुख अब्दुल्ला के तमाम जहरीले बयानों को बाकायदा प्रमाणों के साथ दिखाते हुए बिंदास बोल किया था और सवाल किया था कि फारुख अब्दुल्ला की गिरफ्तारी कब होगी . आखिरकार उत्तर देर से ही सही पर सकारात्मक आया है .

ध्यान देने योग्य है कि जहाँ एक तरफ 370 खत्म किए जाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है  तो वहीँ दूसरी तरफ जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला  को पीएसपी एक्ट के तहत हिरासत में लिया गया है. फारुख को पब्लिक सेफ्टी एक्ट के तहत हिरासत में रखा गया है, जिसके तहत दो साल तक बगैर किसी सुनवाई के रखा जा सकता है. केंद्र सरकार के इस एक्शन के बाद अलगाववादियों , आतंकियों के साथ दिल्ली तक के कुछ नेताओं में खलबली मची दिखाई दे रही है .

इसी मामले में राज्यसभा सांसद वाइको की याचिका पर CJI रंजन गोगोई, जस्टिस एस ए बोबडे और जस्टिस एस अब्दुल नजीर की पीठ ने सुनवाई की. याचिका पर सुनवाई करते हुए सीजेआई रंजन गोगोई ने केंद्र सरकार से पूछा ‘क्या वो हिरासत में हैं?’ इस पर सॉलिसिटर जनरल ने कहा हम सरकार से निर्देश लेंगे.  वाइको के वकील ने कोर्ट से कहा कि फारुक अब्दुल्ला बाहर नहीं निकल सकते, कश्मीर में अधिकारों का हनन हो रहा है. कोर्ट ने वकील से कहा कि अपनी आवाज तेज ना करें.

देखिए वो बिंदास बोल जिसमे सुरेश चव्हाणके जी ने मांग की थी फारुख अब्दुल्ला की गिरफ्तारी की –

 

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW