बलात्कारियो के लिए जो कभी मुलायम सिंह यादव ने कहा था, ठीक वही कहा इंस्पेक्टर सुभाष यादव ने जब पहुंची एक बलात्कार पीडिता की माँ

आज तक बलात्कार पीडिताओ के मामले में मुलायम सिंह का बयान हर किसी के जेहन में तब उतर जाता है जब कोई पीडिता इंसाफ के लिए संघर्ष करती है . अभी तक सबके कानो में गूंजते हैं मुलायम सिंह यादव के वो शब्द जब उन्होंने कहा था की क्या बलात्कारियो को फांसी दोगे ? अरे ये बच्चे हैं , गलती हो जाती है इनसे .. उस समय भले ही पूरे विपक्ष के साथ महिला आयोग तक ने इस मामले को संवेदनहीनता का चरम कहा था लेकिन मुलायम सिंह यादव ने तब भी अपने बयान पर माफ़ी नहीं मांगी .

अब ठीक उन्ही के नक्शे कदम पर चलते हुए उत्तर प्रदेश पुलिस की बलिया पुलिस में तैनात इंस्पेक्टर सुभाष यादव ने वही शब्द तब दोहराए जब एक बलात्कार पीडिता की माँ उनके पास गुहार ले कर आई थी.. ये इंस्पेक्टर बलिया पुलिस के मनियर थाना क्षेत्र में तैनात हैं..  बलिया के मनियर थानाक्षेत्र में नाबालिग से रेप की वारदात को अंजाम दिया गया। बच्ची की मां जब शिकायत दर्ज करवाने थाने पहुंची तो इंस्पेक्टर ने पहले तो उसकी रिपोर्ट नहीं ​लिखी गई..

जब जायदा दबाव ना तो उन्होंने आगे कहा कि ये नाबालिग बच्चे हैं, इनसे छोटी-मोटी ग​लतियां होती रहती हैं। इसे अपराध के रूप में न देखा जाए.. पीड़िता की मां ने बताया कि उसका पति बाहर रहकर कमाता है। वह अपने बच्चों के साथ झोपड़ी में रहती है। 9वीं कक्षा में पढ़ने वाली उसकी बेटी 10 सितंबर को शौच करने गई थी। इसी दौरान उसकी बेटी का मुंह दबाकर एक खेत में युवक ने दुष्कर्म किया।  एसपी दवेंद्रनाथ ने मामले में संज्ञान लेते हुए इंस्पेक्टर सुभाष यादव को सस्पेंड कर दिया है ..

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW