पढ़ाई में धर्म न देखने की आदत के चलते वो ट्यूशन पढ़ती थी मुस्लिम टीचर के यहां.. लेकिन वहां रहता था एक दरिंदा इस्लाम

मैडम जी…आपके पापा बहुत गंदे हैं… उन्होंने मेरे साथ गंदा काम किया है. अब मैं आपके घर ट्यूशन नहीं पढ़ सकती. ये शब्द उस 8 साल की बच्ची के हैं, जो देश की राजधानी दिल्ली के संगम विहार में रोजाना एक मुस्लिम टीचर के घर में ट्यूशन पढऩे जाती थी. बच्ची का परिवार आज की कथित सेक्यूलर विचारधारा को मानने वाला था तथा पढाई में धर्म आदि न देखने की बात कहता था. यही कारण था कि बच्ची के परिजन उसको मुस्लिम महिला टीचर के ट्यूशन पढ़ाने के लिए भेजते थे.

फिर एक दिन वो हुआ, जिसकी उन्होंने उम्मीद नहीं थी. जिस मुस्लिम टीचर के पास बच्ची ट्यूशन पढ़ने के लिए जाती थी, उस टीचर के 60 वर्षीय अब्बू इस्लाम ने बच्ची के साथ यौन शोषण की घटना को अंजाम दे डाला. इस्लाम कार पेंटर का काम करता है. जानकारी के मुताबिक़, शनिवार दोपहर को भी बच्ची ट्यूशन पढऩे गई थी. बच्ची ने घर का गेट खटखटाया तो इस्लाम ने दरवाजा खोला. वह अपनी टीचर को खोज रही थी. उस वक्त सारा परिवार सो रहा था, जिसका इस्लाम ने फायदा उठाना चाहा. पहले एक बार हाथ फेरा, फिर दूसरी और तीसरी बार भी यही किया. बच्ची ने इस तरह गलत हरकत करने से मना किया. इस्लाम डरा नहीं, बदतमीजी करता रहा.

इसके बाद बच्ची इस्लाम के चंगुल से छूटकर भाग अपने घर भाग आई. डरी सहमी बच्ची ने अपने घर आकर अपनी मां से पूरी आपबीती बताई. अभिभावक तुरंत आरोपी के घर पहुंच गए. वहां उन लोगों से उसकी पत्नी ने माफी मांगते हुए इस मामले को खत्म करने के बात कही. लेकिन बच्ची नहीं मानी तथा पुलिस में शिकायत करने की बात कही. बच्ची की बात मानते हुए परिवार ने तुरंत पुलिस को इस मामले की जानकारी दी. शिकायत के आधार पर पुलिस ने कार्यवाई करते हुए दरिन्दे इस्लाम को गिरफ्तार कर लिया.

 

Share This Post