होली में गुलाल लगाने वाले सुन्नत उल्लाह का हो रहा है वो हाल जिसके बाद आप सोच में पड़ जायेंगे सेक्यूलरिज्म के मामले में

वो स्वंय को धर्मनिरपेक्षता का बड़ा ठेकेदार बताते थे. सर्फ एक्सेल के ऐड के बाद जब हिन्दू समाज आक्रोशित था तब वह उस ऐड का समर्थन यह कहते हुए कर रहे थे कि होली तो प्रेम का, सद्भाव का त्यौहार है, इसलिए सबको होली खेलनी चाहिए. लेकिन जब सुन्नत उल्लाह हिन्दू समाज के लोगों के साथ मिलकर होली खेली, रंग लगाया था तो धर्मनिरपेक्षता के ये कथित नम्बरदार मजहब के ठेकेदार बन बैठे तथा सुन्नत उल्लाह के होली खेलने का बुरा मान गये. इन ठेकेदारों ने सुन्नत उल्लाह  को समाज से निकालने का भी एलान कर दिया.

जिसे मासूम शॉल बेचने वाला कश्मीरी देखा जाता था वही निकला हमारे CRPF वीरों का असल हत्यारा.. उसने ही तैयार किया था मौत का सामान

मामला झारखंड के रामगढ़ जिले के रजरप्पा थाना क्षेत्र का है जहाँ के बेलाल नगर चितरपुर निवासी सुन्नत उल्लाह ने पुलिस को लिखित आवेदन दिया है. जिसमें उन्होंने कहा है कि होली में गुलाल लगाने पर उसे प्रताड़ित किया जा रहा है. उसे समाज से निकालने की धमकी भी दी जा रही है. उन्‍होंने बताया 17 मार्च को रजरप्पा थाना में आयोजित शांति समिति की बैठक में भाग लिया था. इस क्रम में होली मिलन समारोह के दौरान लोगों द्वारा मुझे गुलाल लगया गया और मैं भी सभी लोगों को गुलाल लगाया. मुझे कोई आपत्ति नहीं है. क्योंकि मैं शांति समिति का सदस्य हूं और आपसी सौहार्द बनाये रखने में मैं सदा तत्पर रहा हूं.

वो बेहद मुक्त विचारों की सेक्यूलर लड़की थी, हिन्दू-मुस्लिम की बातों से बहुत दूर… फिर उसके मोबाइल पर आई एक मिसकॉल

सुन्नत उल्लाह ने पुलिस को बताया है कि उनका होली मिलन समारोह का फोटो व्हाट्सएप पर वायरल हो गया. इसी फोटो को देख कर मेरे समुदाय के कुछ लोग नया तालाब चितरपुर बड़ी मसजिद के समीप रहने वाला लाल खान मेरे तरफ देख कर गलत इरादा से इशारा करता है कि मुस्लिम होकर टीका लगाता है. इसे समाज से निकाल दो. 22 मार्च को नमाज के वक्त इसी के द्वारा माइक से ऐलान किया गया कि इसे समाज से निकाल दो यह तिलकधारी मौलाना हो गया है. इससे मैं बहुत ही आहत हूं.

शरीयत के लिए सुप्रीम कोर्ट तथा संविधान के खिलाफ खड़ा हो गया ताज मोहम्मद… मेसेंजर पर पत्नी को दिया तीन तलाक

सुन्नत उल्लाह ने कहा है कि मेरा इज्जत प्रतिष्ठा का हनन हो रहा है. मेरे साथ शांति समिति की बैठक में आये हुए गुलाम मोहम्मद के साथ भी लाल खान का भतीजा शाहरुख खान द्वारा कॉलर पकड़ कर मारपीट कर दुर्व्यवहार किया गया. इन लोगों ने नमाज के बाद कई लोगों को उग्र कर दिया, पूरा भीड़ जान से मार देता. किसी तरह मैं अपनी जान बचा कर वहां से भाग निकला. उन्होंने पुलिस से उचित कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है. थाना में आवेदन देने के बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है.

अब लालू की पार्टी में मची भगदड़.. RJD प्रदेश अध्यक्ष ने ओड़ लिया भगवा तथा बोलीं- “फिर एक बार मोदी सरकार”

Share This Post