देवबंद में चुपचाप बन रहा कुछ ऐसा जिसकी अनुमति ही नहीं है प्रशासन से.. क्या ये कोई तैयारी है ?

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर के देवबंद में स्थित इस्लामिक शिक्षण संस्थान दारुल उलूम देवबंद को लेकर बड़ी खबर सामने आई है. खबर के मुताबिक़, दारुल उलूम देवबंद के परिसर में अवैध रूप से हैलीपैड बनाया जा रहा है. देवबंद में अवैध रूप से हैलीपैड के निर्माण की खबर सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है. फिलहाल सहारनपुर जिला प्रशासन इसके निर्माण को लेकर सख्त है और उसने संस्थान के प्रबंधन से इसके लिए जवाब तलब किया है तथा हैलीपैड का निर्माण कार्य को रोक दिया है.

गुल मंजन किया उस मुस्लिम महिला ने तो भड़क उठा शौहर मोहम्मद वैश.. फिर उसने बोले वो तीन शब्द जिससे तबाह हो गई महिला की जिन्दगी

दरअसल जिला प्रशासन को दारूल उलूम में अवैध तरीके से हैलीपैड बनाए जाने की खबर मिली थी. हालांकि निजी संपत्तियों पर हैलीपैड बनाने के लिए मानक तय हैं और ये जिला प्रशासन के आदेश पर बनाए जा सकते हैं. लेकिन दारूल उलूम में बन रहे हैलीपैड के लिए संस्थान के प्रबंधन ने कोई अनुमति नहीं ली तथा अवैध रूप से हैलीपैड का निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया. आखिर देवबंद का प्रबंधन अवैध रूप से हैलीपैड का निर्माण क्यों करना चाहता है, इसको लेकर तमाम तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं.

सहारनपुर से उठी हलाला के विरोध में आवाज.. हिम्मत करके बोली वो- “आखिर किस किस के साथ सोऊँ” ?

फिलहाल जिले के डीएम आलोक कुमार पांडे ने बताया है कि दारूम उलूम में विशाल लाइब्रेरी के ऊपर और परिसर में हेलीपैड निर्माण किए जा रहा था.  जिसका निर्माण रोक दिया गया है. दारुल उलूम देवबंद के कुलपति मोहतमिम अबुल कासिम नोमानी को इसके लिए जवाब तलब किया गया था लेकिन अभी तक उनका कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला है. देवबंद प्रबंधन अभी तक ये नहीं बता सका है कि आखिर अवैध तरीके से वो हैलीपैड का निर्माण क्यों करा रहे थे.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW