अब मदरसे में हुआ नाबालिग का बलात्कार.. बलात्कार करने वाला मदरसे का ही मौलाना

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ से मासूम बच्ची के साथ हैवानियत तथा दरिंदगी की जो श्रंखला शुरू हुई थी वो थमती हुई नजर नहीं आ रही है. अलीगढ़ में जिस क्रूरता तथा बेरहमी के साथ दरिंदगी करते हुए मासूम ट्विंकल की जान ली गई, उससे पूरा राष्ट्र आक्रोश से भरा हुआ है. लेकिन इसके बाद भी बाराबंकी, बरेली, मेरठ, हमीरपुर, बनारस, सीकर, जम्मू कश्मीर सहित कई जगहों पर हैवान जिहादियों ने मासूम बच्चियों के साथ दुष्कर्म किया तो कहीं बलात्कार के बाद उनकी ह्त्या भी कर दी.

भारतीय दर्शकों ने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज स्मिथ को कहा “चीटर” तो कोहली ने किया वो, जिसकी हर तरफ हो रही तारीफ़.. स्मिथ भी हुए भावुक

लेकिन अब उत्तर प्रदेश के कानपुर की एक और नाबालिग किशोरी शिकार हुई है इसी जाहिल आदमियत वाली बहशी सोच का, जिसके साथ मदरसे के अंदर मदरसे के मौलाना ने ही बलात्कार किया है. मामला कानपुर के आवास विकास हंसपुरम के नौबस्ता का है जहाँ विवार सुबह मौलाना जावेद ने 15 वर्षीय किशोरी को घर से मदरसे में लाकर दुष्कर्म किया. दो घंटे बाद घर पहुंची किशोरी ने परिजनों को घटना की जानकारी. इसके बाद परिजन उसे लेकर थाने पहुंचे और मौलाना सहित तीन लोगों के खिलाफ तहरीर दी. पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर आरोपी अकबरपुर (कानपुर देहात) निवासी मौलाना जावेद को गिरफ्तार कर लिया है.

10 जून: आज ही के दिन हिन्दू सम्राट राजा सुहेल देव ने चीर दी थी भारत को हिन्दू विहीन करने आये आक्रान्ता “सालार गाजी” की छाती. वही जगह, जहाँ बन चुकी है एक मजार

पीड़िता की मां ने बताया कि रविवार सुबह 5:30 बजे आरोपी मौलाना जावेद उसके घर पहुंचा. घर में मौलाना ने मां से नाबालिग का बैंक का फार्म भरने की बात कही और उसे मदरसा लेकर आ गया. यहां एक कमरे में ले जाकर उससे दुष्कर्म किया. इससे भी शर्म की बात ये हैं कि जब मौलाना नाबालिग के जिस्म को नोंच रहा था तथा बच्ची उससे रहम की भीख मांग रही थी तब वहां मदरसे में पढ़ाने वाली शिक्षिकाएं शिबा और आफदा परिसर में ही मौजूद थीं, लेकिन उन्होंने कोई मदद नहीं की.

प्रभु श्रीराम से पहले शिवसेना प्रमुख उद्धव के बेटे आदित्य ठाकरे ने अजमेर दरगाह में झुकाया सर.. वो राह जिस पर नहीं थे बाला साहब

जब मौलाना ने नाबालिग की आबरू तथा उसके जिस्म से अपनी हवस मिटा ली तो उसने उसने किसी को न बताने की धमकी देते हुए उसे घर वापस भेज दिया. इसके बाद साढ़े 7 बजे नाबालिग घर पहुँची तथा परिजनों को सारी बात बताई तो वे मदरसा पहुंचे, लेकिन वहां ताला लगा था. इसके बाद परिजन पुलिस के पास गए. परिजनों ने मौलाना और आफदा पर रुपये लेकर मामला रफादफा करने का दबाव बनाने का भी आरोप लगाया है कि मौलाना ने फोन क्र उन्हें धमकाया था कि वो इस मामले को पुलिस में न ले जाएँ वरना अच्छा नहीं होगा तथा पैसे ले लो व चुप रहो. इसके बड़ा शिक्षिका आफदा ने भी भी कॉल कर पैसे लेकर मामला रफा दफा करने की बात कही.  मामले में पुलिस ने मौलाना जावेद को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं, दो अन्य के खिलाफ जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW