एक और मंदिर, एक और पुजारी… रामपुर में तालिबानी अंदाज में मंदिर के पुजारी का क़त्ल

उत्तर प्रदेश में मंदिर के पुजारियों की हत्याओं का जो सिलसिला शुरू हुआ था वो अनवरत जारी है. अलीगढ़, औरैया, पीलीभीत के बाद अब उत्तर प्रदेश के रामपुर में तालिबानी अंदाज में बेहद ही क्रूर तरीके से मंदिर के पुजारी का क़त्ल किया गया है. रामपुर के शाहबाद क्षेत्र में गुरुवार की रात पुजारी की गला रेतकर हत्या कर दी गई. हत्यारों ने उनके सिर और शरीर पर भी कई वार किए हैं. ग्रामीणों ने सुबह रास्ते में रक्तरंजित शव पड़ा देखा तो सनसनी फैल गई. स्थानीय लोगों द्वारा पुलिस को सूचना दी गई.

पुलिस ने ग्राम प्रधान की ओर से अज्ञात हत्यारों पर मुकदमा दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. सूचना पर एसपी रामपुर ने भी मौका-ए-वारदात का मुआयना किया वहीं फोरेंसिक टीम ने भी मौके से खून और मिट्टी आदि के नमूने भरे हैं.  खबर के मुताबिक़, बरेली जिले की आंवला तहसील के ग्राम आनंदपुर निवासी श्यामदास त्यागी(55) पिछले करीब 15 वर्षों से शाहबाद क्षेत्र के ग्राम तालिकाबाद स्थित सिद्धबाबा की मणि पर पुजारी थे. खेतों पर जा रहे ग्रामीणों को शुक्रवार सुबह तालिकाबाद-भगवंतपुर गांव के सम्पर्क मार्ग पर खून से लथपथ पुजारी का शव पड़ा हुआ मिला. इसे देखकर ग्रामीणों के होश फाख्ता हो गए। पुलिस को सूचना दी गई.

एसपी शिवहरि मीणा व सीओ नरेंद्रपाल सिंह समेत पुलिस अफसरों ने मौका-ए-वारदात का मुआयना किया. सीओ ने बताया कि पुजारी के सिर और सीने में भी चोट के गहरे निशान थे. फोरेंसिक टीम ने भी मौके पर पहुंच कर परीक्षण किया और मौके से खून, मिट्टी के सैंपल भरे.  हत्या के पीछे की वजह जानने में पुलिस जुटी हुई है. जल्द पर्दाफाश कर दिया जाएगा. रामपुर पुलिस अधीक्षक शिवहिर मीणा ने बताया कि शाहबाद में पुजारी का शव मिला है. घटनास्थल पर संघर्ष के निशान हैं जिससे लगता है कि हत्यारों से बचने के लिए पुजारी ने संघर्ष किया होगा. फिलहाल पुलिस मामले की  कर रही है.

Share This Post

Leave a Reply