Breaking News:

कत्लखाने बंद हुए तो घर को ही बना डाला खून, मांस और हड्डी का अड्डा.. ये घर शाकिर का था

कत्लखानों के खिलाफ योगी की सत्ता ने अभियान चलाया तो गोतस्करों ने घर को गोकत्लखाना बना दिया. भले ही कत्लखाने बंद हो गये लेकिन उन्होंने तो ठान लिया था कि उनको किसी भी हालात में हिन्दुओं की आस्थाओं को कुचलते हुए गोतस्करी करनी ही हैं. मामला उत्तर प्रदेश के कैराना का है जहाँ मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने मकान पर छापेमारी कर गौकशी का भंड़ाफोड़ किया है. पुलिस ने मकान मालिक सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए मौके से 1.40 कुंतल गोमांस, खाल व वध करने के उपकरण बरामद किए हैं. आरोपियों के विरूद्ध मुकदमा पंजीकृत कर उन्हें जेल भेज दिया है.

खबर के मुताबिक़, शुक्रवार सुबह करीब ग्यारह बजे कोतवाली पुलिस को सूचना मिली कि नगर के मोहल्ला अफगानान में एक मकान के अंदर गुपचुप तरीके से प्रतिबंधित गोवंश कटान किया जा रहा है. सूचना पर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक राजेंद्र कुमार नागर ने भारी पुलिस फोर्स के साथ मकान पर छापेमारी की. पुलिस ने मौके से एक कुंतल 40 किलोग्राम गोमांस, एक गोवंश खाल, छूरा, रस्सी, गुटका, तराजू व बांट बरामद किए. इस दौरान मौके से फरार होने का प्रयास कर रहे मकान मालिक शराफत पुत्र शफी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया. इसके अलावा नजाकत पुत्र लियाकत व जहीर पुत्र सगीर निवासीगण मोहल्ला अफगानान को भी मौके से गिरफ्तार कर लिया.

इसके बाद पुलिस ने बरामदशुदा गोमांस का पशु चिकित्सालय से चिकित्सक से परीक्षण कराने के साथ ही उसे गड्ढा खुदवाकर दफन करवा दिया. कोतवाली प्रभारी राजेंद्र नागर ने बताया कि तीनों आरोपियों के विरूद्ध गोवध अधिनियम के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है. आरोपियों के खिलाफ चालानी कार्रवाई कर उन्हें कोर्ट में पेश किया गया. उन्होंने जनता से अपील की अगर कहीं भी गोकशी या गोतस्करी होती है तो इस बारे में तत्काल पुलिस को सूचित करें.

Share This Post