वो मॉडर्न लड़की थी, हिन्दू मुस्लिम की बातों से बहुत दूर.. अचानक एक दिन उसको आई नदीम की फ्रेंड रिक्वेस्ट

वो कहती थी कि ये हिन्दू संगठन व्यर्थ में हिन्दू मुस्लिम करते रहते हैं तथा समाज में नफरत फैलाते रहते हैं. इस दुनिया में कुछ भी हिन्दू मुसलमान आदि नहीं होता तथा सब इंसान होते हैं. माथे पर तिलक लगा लिया, गले में भगवा डाल लिया तथा हिन्दू संगठन से जुड़कर नफरत फैलाना शुरू कर दी. उसके अनुसार ये भगवा संगठन समाज के दुश्मन थे तथा वह इनसे बचकर रहने की सलाह डटी थी. शायद आज की छद्म धर्मनिरपेक्षता उनके खून में थी और फिर वह दिल्ली जैसे मॉडर्न शहर में रहती थी.

फिर एक दिन फेसबुक पर उसको नदीम नामक युवक की फ्रेंड रिक्वेस्ट आई तो उसने एक्सेप्ट कर ली. दोनों की दोस्ती हो गई. फिर उसके बाद वो हुआ कि उसको हिन्दू संगठन वालों की एक एक बात सच नजर आने लगी. नदीम ने जॉब देने के बहाने युवती को अपने पास बुलाया तथा अपने दोस्त के साथ मिलकर उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया. यही नहीं उसके अश्लील फोटो लेकर उनको सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करने लगा. अंत में गुरुवार को युवती ने दिल्ली के प्रीति विहार थाने में शिकायत दी तो पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया. डीसीपी (ईस्ट) पंकज कुमार सिंह ने बताया कि आरोपी नदीम को गिरफ्तार कर लिया गया है, जो नोएडा का रहने वाला है. अकरम उसका दोस्त बताया जा रहा है और उसकी तलाश में पुलिस दबिश दे रही है.

पुलिस के मुताबिक, आरोपी नदीम और 20 साल की युवती की दोस्ती सोशल मीडिया के जरिए हुई. दोनों के बीच फोन नंबर एक्सचेंज हुए तो युवक ने जॉब लगवाने का झांसा दिया. युवती को 9 सितंबर को मिलने के लिए वी3एस मॉल के बाहर बुलाया. दोनों के बीच आरोपी की गाड़ी में बैठकर बातचीत हुई और फिर एक रेस्टोरेंट में खाना खाया. नदीम ने युवती को लक्ष्मी नगर रेड लाइट के पास छोड़ दिया. इस मुलाकात के दौरान आरोपी का व्यवहार ठीक लगा और दोनों के बीच फोन पर बातें होने लगी.

नदीम ने 25 सितंबर को कॉल पर पीड़िता को जॉब के लिए निर्माण विहार स्थित वी3एस मॉल के सामने बुलाया. वह करीब 12 बजे पहुंच गई थी, लेकिन आरोपी 3 बजे बाद आया. वह गाड़ी में बैठ गई तो उसे कोल्ड ड्रिंक्स दी. इसे पीने के बाद उसका सिर भारी हो गया. युवती के मुताबिक, तबीयत खराब होती देख उसने कहा कि क्या सर मेरा इंटरव्यू कल ले सकते हैं. नदीम ने बोला कि मैंने सर को यहीं बुला रखा है, जो पांच मिनट में ही इंटरव्यू ले लेंगे. युवती ने बताया कि वह बगल वाली सीट पर साइड में बैठ गई, लेकिन आरोपी ने उसे अपनी तरफ खींच लिया और गाड़ी चलाने लगा. इसके कुछ देर बाद जब होश आया तो खुद को पिछली सीट पर पाया. आरोप है कि बगल में एक शख्स बैठा हुआ था, जिसके बारे में पूछने पर नदीम ने बताया कि ये अकरम है और पेशे से पत्रकार है.

आरोप है कि इसके बाद नदीम ने सुनसान जगह पर गाड़ी पार्क कर दी और खुद गाड़ी से बाहर चला गया. अकरम ने युवती के साथ रेप किया और फिर वहां से चला गया. पीड़िता ने जब नदीम से पुलिस में शिकायत करने की बात कही तो उसने रेप का विडियो दिखाया और वायरल करने की धमकी दी. इसके बाद लक्ष्मी नगर रेडलाइट पर छोड़ दिया और धमकी दी कि जब भी हम बुलाएंगे आ जाना. पीड़िता डर गई और उसने इस बात का किसी से जिक्र नहीं किया. इसके बाद उसने आरोपी का फोन ब्लॉक कर दिया. आरोपी का 29 दिसंबर को किसी अनजान नंबर से फोन आया और फिर से बुलाने लगा. आखिरकार युवती ने गुरुवार को प्रीत विहार थाने में मुकदमा दर्ज करवा दिया. इसके बाद पुलिस ने नदीम को गिरफ्तार कर लिया.

Share This Post