मासूमों पर आई भयानक आफत.. मुजफ्फरनगर में दो नाबालिग बहनों के साथ फिर हुआ बलात्कार.. हैवानियत करने वालों के नाम जावेद, शादाब और साकिल

महिला सुरक्षा के लिए केंद्र तथा राज्य सरकारों द्वारा की जा रही तमाम कोशिशें असफल साबित होती हुई नजर आ रही हैं. बहशी हैवान दरिन्दे आये दिन हवस की भूख में अंधे होकर देशभर के विभिन्न हिस्सों में कभी मासूम बच्चियों तो कभी बुजुर्ग महिलाओं तक के साथ बलत्कार की घटना को अंजाम दे रहे हैं तथा न सिर्फ शासन और प्रशासन बल्कि सभी समाज के धैर्य को भी सीधी चुनौती देते हुए नजर आ रहे हैं.

13 जून: बलिदान दिवस “राजा बलभद्र सिंह” .. भाई का विवाह और गर्भवती पत्नी दोनों को छोड़ कर कूद गए 1857 के संग्राम में और कई अंग्रेजो का वध करते हुए आज ही हुए थे बलिदान

ताजा मामला उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के थाना शाहपुर क्षेत्र के गांव कसेरवा का है जहाँ चार वहशी दरिंदों ने अपने ही पड़ोस की रहने वाली दो नाबालिक सगी बहनों को उस समय खेत में खींच लिया जब दोनों बहने खेत में काम करने के लिए जा रही थी. आरोप है कि चारों हैवानों ने दोनों सगी नाबालिग बहनों के साथ गैंगरेप किया और उसके बाद घटना के बारे में किसी को भी बताने पर उन्हें जान से मारने की धमकी देते हुए फरार हो गए.

हिंदू नेताओं को अपने घर से दूर रहने व इफ्तारी करवाने वाले गला रेत कर मारे गये अंकित सक्सेना के परिवार वालों को अब उठा दर्द केजरीवाल के खिलाफ

इस मामले में पीड़िता युवतियों ने तीन आरोपियों को पहचान लिया है जबकि एक युवक द्वारा मुंह लपेटे जाने के कारण उसे पहचाना नहीं जा सका है. पीड़िताओं ने तीन बलात्कारियों के नाम जावेद उर्फ गोगा पुत्र कय्यूम शादाब पुत्र आरिफ साकिल पुत्र आरिफ बताए हैं. इस मामले  लेकर पीड़ित बच्चियों के परिजनों ने पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी है. पुलिस का कहना है कि मामला दर्ज कर लिया गया है तथा आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

Share This Post