सरस्वती वंदना और भारतमाता की जय को रुकवा कर पढ़ाई जाने लगी मदरसे की दुआ.. घटना न पाकिस्तान की, न कश्मीर की और न बंगाल की


ये कोई प्राइवेट स्कूल नहीं बल्कि सरकारी स्कूल है जहाँ सुबह के समय होने वाली सरस्वती वंदना तथा भारत माता की जय के नारों को रोककर मदरसे की प्रार्थना शुरू करवा दी गई थी. जहाँ सभी स्कूलों में सुबह के समय सरस्वती वंदना होती थी वहीं इस स्कूल में बच्चों से मदरसे की दुआ कराई जाती थी. और ये घटना इस्लामिक मुल्क पाकिस्तान या भारत के कश्मीर और बंगाल की नहीं बल्कि उस उत्तर प्रदेश के पीलीभीत कोतवाली बीसलपुर गयासपुर गांव स्थित प्राथमिक विद्यालय का है, जिसक राज्य की सत्ता प्रखर हिन्दू राष्ट्रवादी नेता योगी आदित्यनाथ के हाथों में है.

मामला तब सामने आया जब इसका वीडियो वायरल हो गया.  मामले का वीडियो जैसे ही वायरल हुआ अधिकारियों में हड़कंप मच गया. विश्व हिंदू परिषद और दूसरे हिन्दू संगठनों ने इसका कड़ा विरोध जताया जिसका संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी ने हेडमास्टर को सस्पेंड करने का आदेश दे दिया. वीडियो में बच्चे तय प्रार्थना सरस्वती वंदना की जगह ‘लब पे आती है दुआ तमन्ना बन के’ गाते नजर आए जबकि उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूलों में सरस्वती वंदना और राष्ट्रगान प्रार्थना के रूप में की जाती हैं.

आरोप है कि स्कूल के हेडमास्टर फुरकान अली जबरन स्कूल में मदरसे की प्रार्थना करवाते हैं. यह मामला जब बेसिक शिक्षा विभाग तक पहुंचा तो हड़कंप मच गया. एक हिंदू संगठन के कार्यकर्ता ने कहा कि एक वीडियो मिला है जिसमें स्कूल में मदरसों की दुआ कराई जा रही है. वहां हिंदू बच्चे भी पढ़ते हैं. लेकिन वहां धर्म की शिक्षा दी जा रही है जो गलत है. वीडियो में सभी बच्चों ने अपने हाथ बांध रखे हैं. जबकि प्रार्थना हाथ जोड़ कर की जाती है.

मामले की गंभीरता को देखते हुए डीएम वैभव श्रीवास्तव ने आरोपी प्रधानाध्यापक फुरकान अली के खिलाफ जांच के आदेश दे दिए हैं और उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है. डीएम ने इस मामले को लेकर कहा कि कुछ लोगों ने एक सरकारी स्कूल के प्रधानाध्यापक पर धर्म विशेष की प्रार्थना कराने का आरोप लगाया था जिसके बाद कार्रवाई की गई है. वहीं बीसएए देवेंद्र स्वरूप ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि मामला मेरे संज्ञान में आया है. इसके संबंध में खण्ड शिक्षा अधिकारी बीसलपुर से आख्या मांगी है. जैसे ही आख्या प्राप्त होगी प्रधानाध्यापक के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...