Breaking News:

बलात्कार की शिक्षा दे रहा था मदरसे का मौलवी… उसके ही इशारे पर लूटी गई थी हिन्दू बच्ची की इज्जत

कहने को तो मदरसा को तालीम का पाक स्थल माना जाता है. मदरसों के बारे में प्रचार किया जाता है कि मदरसों में बच्चों को संस्कार दिए जाते हैं, तालीम सिखाई जाती है ताकि ये छोटे बच्चे आगे चलकर मानवता के हित के लिए कार्य कर सकें. लेकिन जरा सोचिये कि तालीम के नाम पर, शिक्षा के नाम पर चलने वाले मदरसों में बलात्कार को जायज ठहराया जाए, तालीमी लेने वालों को बलात्कार करने के लिए उकसाया जाए तथा ये कार्य कोई और नहीं बल्कि तालीम सिखाने वाला तथाकथित मौलाना/मौलवी ही करे तो क्या उस जगह को पाक कहा जा सकता है? ये तथाकथित मौलाना जो खुद को मानवता का पैरोकार बताते हैं लेकिन इसकी आड़ में ये किसी न किसी बहाने से न सिर्फ बच्चियों का शोषण करते हैं, बल्कि युवकों को बलात्कार के लिए उकसाते भी हैं आखिर क्यों? आखिर क्यों ऐसे लोगों के खिलाफ कोई फतवा आदि जारी नहीं किया जाता??

मामला उत्तर प्रदेश के हाथरस का है जहाँ 5 वर्षीय मासूम के साथ दरिंदगी के मामले में रेप के लिए उकसाने वाला आरोपी मौलवी मोहम्मद याकूब को गिरफ्तार किया गया है.  मौलवी पर मदरसे में हिन्दू बच्चियों के साथ रेप की तालीम देने का आरोप है. फिलहाल पुलिस आरोपी मौलवी से पूछताछ कर रही है. बता दें कि करीब 5 दिन पहले सादाबाद थाना क्षेत्र की पुलिस चौकी बिसावर के एक गांव निवासी एक व्यवसायी की 5 वर्षीय बेटी,  2 वर्षीय बेटा और व्यवसायी के भाई के 4 साल का बेटा एक साथ खेल रहे थे तभी मुस्लिम समुदाय के तीन युवक वहां आये और उन्हें उठाकर ले गए थे. परिजनों कोई जब इसकी सूचना मिली तो हड़कंप मच गया. जब परिजन बच्चों को तलाशते हुए पहुंचे तो मासूम लड़की नगला मदारी के एक स्कूल के पास खेतों में निर्वस्त्र मिली उसके कपड़े पर खून के सनी हुई मिली, अन्य दोनों बच्चे भी मिल गए. मौके से लोगों ने एक बलात्कारी को दबोच लिया, जबकि दो अन्य भाग गए.

घटना के सामने आने के बाद पूरे इलाके में सांप्रदायिक तनाव जैसा माहौल बन गया. आक्रोशित परिजन तथा स्थानीय लोग आरोपियों को सख्त से सख्त सजा देने की मांग करने लगे. इधर जब पुलिस ने गिरफ्तार किये गये बलात्कारी युवक से पूछताछ की गई तो उसने चौंकाने वाला खुलासा किया. उसने बताया कि “उसने हाथरस के एक मदरसे में दो साल शिक्षा ग्रहण की है. वहां के मौलवी उसके साथ गलत काम करते थे और उसे भी ये करने की तालीम देते थे. उन्हीं ने इस तरह के काम के लिए उन्हें उकसाया था.” इस पूरे मामले में मौलवी मोहम्मद याकूब का नाम सामने आने के बाद हिन्दू समाज के लोग आक्रोशित हो उठे तथा इसके विरोध में बजार भी बंद रखा गया. इस पूरे मामले पर एसएचओ अनिल कुमार ङ्क्षसह ने बताया कि सोमवार को मौलवी को मथुरा रोड पर बिसावर के निकट नया बाग तिराहे से गिरफ्तार कर लिया गया है तथा उससे पूंछताछ  की जा रही है.

Share This Post