बच्ची से बलात्कार से पहले उसके हाथ और मुंह को बांध दिया था 5 बच्चों के पिता दरिन्दे रियाज़ ने.. जिससे वो दर्द में चीख न सके

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के सिकरीगंज इलाके से 8 वर्षीय नाबालिग बच्ची के साथ बलात्कार का रिश्तों की मर्यादा को शर्मशार करने वाला मामला सामने आया है जहाँ बच्ची के रिश्तेदार ने बच्ची के ही घर में हाथ-पैर बांधकर, मुंह में कपड़ा ठूंसकर दुष्कर्म किया तथा घरवालों को भनक लगने से पहले भाग निकला। आरोपी करीब एक महीने से पीड़िता के घर में ही रह रहा था. इसके बाद र के कमरे में मरणासन्न हाल में पड़ी बच्ची पर मां की नजर पड़ी तो परिजन आनन-फानन में बच्ची को अस्पताल   ले गये जहाँ जहां उसकी हालत स्थिर है. आरोपी के खिलाफ पॉक्सो एक्ट और दुष्कर्म की धाराओं में केस दर्ज करके उसकी तलाश में पुलिस टीम लग गई है.

दो युवकों व उनके अब्बू ने पहले किया बलात्कार और अब कहा कि बनो मुसलमान.. नरक से भी बदतर हुई महिला की जिन्दगी.. घटना सेक्यूलर भारत की

प्राप्त हुई जानकारी के मुताबिक़, बलात्कारी रियाज मऊ क्षेत्र का रहने वाला है तथा बच्ची के दूर का रिश्तेदार है. वह बच्ची के घर ही पिछले 1 महीने से रह रहा था. उसने रविवार सुबह 4 बजे वारदात को अंजाम दिया तथा भाग गया. प्राथमिकी के मुताबिक पीड़ित बच्ची घर में मां के पास ही सोई थी। चार बजे तड़के जब बच्ची की मां की आंख खुली तो वह बिस्तर पर मौजूद नहीं थी. वह बच्ची की तलाश करने लगी. खोजते-खोजते वह रियाज के कमरे में पहुंची तो वहां का नजारा देख उसके होश उड़ गए. बच्ची कमरे में बेहोशी की हालत में पड़ी थी. उसके मुंह में कपड़ा था और हाथ को रस्सी से बांधा गया था.

मायावती का आरोप- “मुसलमानों को टिकट नहीं देने की सलाह दी थी अखिलेश ने” .. बसपा और सपा फिर भिड़े

मां ने रस्सी खोला और फिर मुंह पर पानी का छींटा मारा जिसके बाद बच्ची को कुछ होश आया. बच्ची की हालत देखकर सबको मामला समझ आ गया. मां ने घर के अन्य सदस्यों को बताया और सभी बच्ची को लेकर अस्पताल की ओर भागे. अस्पताल से ही पुलिस को मामले की जानकारी दी गई, तत्काल ही पुलिस भी वहां पहुंच गई। आरोपी के बारे में जानकारी हासिल करके पुलिस तत्काल हरकत में आ गई तथा आरोपी की गिरफ्ताती के प्रयास शुरू कर   दिए.

24 जून: जन्मदिवस क्रांतिवीर दामोदर हरी चापेकर जी.. जिन्होंने त्याचारी अंग्रेज अफसर रेंड का वध कर फूँका था स्वतंत्रता क्रांति का बिगुल

बताया गया है कि आरोपी रियाज पांच बच्चों का पिता है. वह मऊ जिले का रहने वाला है तथा कुकर आदि बनाने का काम करता है. आमदनी कम होने की वजह से किराए का कमरा न ले पाने की विवशता बताते हुए उसने रिश्तेदारी में शरण मांगी थी. करीब एक महीने पहले परिवार ने उसे घर में रख लिया था लेकिन उसने रविवार को उसी परिवार की मासूम की जिन्दगी को तबाह कर दिया.

 

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

Share This Post