13 साल की बच्ची से दुष्कर्म करके आसिफ ने सरकार के कड़े कानून POSCO से न डरने के दिए संकेत

आखिर वो कौन सी सोच है जो महिलाओं को हमेशा भूखी नजरों से देखती है? आखिर वो कौन सी सोच है महिलाओं को मात्र अपनी हवस की पूर्ती का साधन मात्र समझती हैं? ये सोच अपनी हवस की भूख में इतनी ज्यादा अंधी हो जाती है कि वह सारी इंसानी मर्यादों को भूल जाती है? आखिर ये सोच आती कहाँ से है तथा ये जानने के बाद भी कि उसको स्वयं एक महिला ने जन्म दिया है तथा उसके खुद के परिवार में भी महिलाएं हैं, ये सोच महिलाओं के साथ, यहाँ तक कि छोटी बच्चियों तक के साथ दुष्कर्म कैसे कर देती है?

इसी व्यभिचारी तथा बहशी सोच का शिकार देश की राजधानी दिल्ली के डाबड़ी के मधु विहार में 13 वर्षीय नाबालिग बच्ची हुई है  जिसके साथ आसिफ नामक दरिन्दे ने बलात्कार की घटना को अंजाम दिया. एकतरफ केंद्र सरकार ने POSCO एक्ट के प्रावधानों को कड़ा किया है तो एकतरह से दूसरी तरफ आसिफ ने साफ़ संकेत दिया है वह इस एक्ट से डरने वाला नहीं है. पीडिता के परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर आरोपी को इलाके से गिरफ्तार कर लिया है. आसिफ मूलत: यूपी के हापुड़ का रहने वाला है और इलाके में अलमारी बनाने वाली फैक्टरी में काम करता है.

पुलिस के अनुसार, बच्ची परिजनों के साथ मधु विहार इलाके में रहती है. पिता राजमिस्त्री है, जबकि मां घरों में साफ सफाई का काम करती है. दो दिन पहले बच्ची किसी काम से बाहर गई थी. आरोप है कि वापस लौटते समय पड़ोस में किराए के मकान में रहने वाला आसिफ उसे बहला-फुसलाकर एक पुराने घर में ले गया, जहां उसने बच्ची के साथ दुष्कर्म किया. बच्ची ने मां को सारी बात बताई. मंगलवार रात करीब 11 बजे बच्ची की मां ने घटना की जानकारी पुलिस को दी. शिकायत मिलने पर पुलिस ने बच्ची का मेडिकल करवाया, जिसमें दुष्कर्म की पुष्टि होने पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया.

Share This Post

Leave a Reply