क्रूरता की सारी हदें पार कर गया शमशेर… महिला को न फंसा पाया तो हथौड़े से कुचलकर मार डाला उसका मासूम बेटा

देवभूमि हरिद्वार राजमिस्त्री शमशेर की क्रूरता से उस समय दहल गया जब उसने दिहाड़ी मजदूर महिला के सात साल के मासूम बेटे की हथौड़े से वार कर हत्या कर दी. जानकारी के मुताबिक़, मासूम की मां मजदूरी करती थी और शमशेर उससे बात करना चाहता था, प्रेमपाश में फंसाना चाहता था लेकिन महिला उसको नजरअंदाज कर रही थी. जब शमशेर को लगा कि महिला उसकी बातों में आने वाली नहीं है तो उसने झल्लाकर बेरहमी के साथ महिला के मासूम बच्चे की ह्त्या कर दी. घटना पिछले वुधवार को सिडकुल क्षेत्र के गांव हेतमपुर  गाँव में घटित हुई.

खबर के मुताबिक़, मूल रूप से गांव सनोवा थाना पसनगा लखीमपुर खीरी, उत्तर प्रदेश की रहने वाली विधवा महिला ममता अपने बच्चों के साथ नवोदय नगर में किराये पर रहती है. ममता का सात साल का बेटा तमिन बुधवार शाम साढ़े पांच बजे लापता हो गया था. महिला ने जब बड़े बेटे नवीन (9) से पूछा तो उसने बताया कि बुधवार शाम जब वह तमिन के साथ घर लौट रहा था तो उन्हें शमशेर अंकल मिले थे.  उन्होंने उसे चीज खरीदने के लिए पैसे दिए थे. वह चीज खरीदने दुकान चला गया और तमिन उन्हीं के पास ही रुक गया था. चीज लेने के बाद वह घर लौट आया था. महिला ने आसपास के लोगों के साथ बेटे की तलाश की, लेकिन कुछ पता नहीं चला. देर रात ही बेटे के गायब होने की सूचना स्थानीय पुलिस को दी और शमशेर पर बेटे को गायब कर देने का आरोप लगाया.

सीओ सदर प्रकाश देवली ने बताया कि बृहस्पतिवार को जब राजमिस्त्री शमशेर पुत्र यासीन निवासी गांव गढमीरपुर रानीपुर को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने कबूला कि तमिन से उसकी मां के बारे में बातचीत की थी तथा निर्माणाधीन मकान में तमिन को ले जाकर हथौड़े से सिर पर ताबड़तोड़ वार कर हत्या कर दी. शव को प्लास्टिक के कट्टे में रखकर आन्नेकी नदी के पुल के नीचे ले जाकर दफना दिया. सीओ ने बताया कि आरोपी की निशानदेही पर मासूम का शव बरामद कर लिया गया है. उन्होंने बताया कि हत्या में प्रयुक्त हथौड़ा भी बरामद कर लिया है.

Share This Post