एक ऐसे राज्य में मोहल्ले को कब्जा कर लिया मुसलामानों ने जिस पर यकीन नहीं हो रहा कईयों को.. लेकिन अब वहां के हिन्दू लगा रहे गुहार


एक ऐसा राज्य.. जिसे हिन्दुओं का गढ़ कहा जाता है.. वहां से बेहद ही चौंकाने वाली खबर आ रही है. खबर ये है हिन्दुओं का गढ़ कहे जाने वाले इस राज्य के मोहल्ले पर मुस्लिमों ने कब्जा कर लिया है तथा ये राज्य है गुजरात. मामला गुजरात के वड़ोदरा का है. मोहल्ले पर मुस्लिमों के कब्जे के बाद वडोदार के निजामपुरा की 52 सोसायटीज ने आगामी लोकसभा चुनाव के बहिष्‍कार की धमकी दी है. नागरिकों ने अपने दरवाजों पर इससे जुड़े बैनर लगाए हैं और जिलाधिकारी को कई ज्ञापन सौंपे हैं. बैनरों में लिखा है, “बायकॉट इलेक्‍शन! एक अल्‍पसंख्‍यक समुदाय के 800 से ज्‍यादा लोगों के लिए एक कॉलोनी बनाने की साजिश को रोकने की जरूरत है. आगामी चुनावों के लिए, किसी पार्टी का कोई नेता हमारी सोसायटी में नहीं आ सकता.”

बता दें कि पूर्व भाजपा मेयर भरत शाह की अगुवाई में नागरिक एक बिल्‍डर द्वारा करीब 800 मुस्लिमों के लिए कॉलोनी बनाने की योजना का विरोध कर रहे हैं. नागरिकों का आरोप है कि गांव की जमीन दो साल पहले एक बिल्‍डर को दी गई थी. यह जमीन अब अल्‍पसंख्‍यक समुदाय के एक व्‍यक्ति को ट्रांसफर करने की कोशिश हो रही है. नागरिकों की चिंता है कि चूंकि यह इलाका अशांत क्षेत्र अधिनियम के तहत आता है, बहुसंख्‍यक धीरे-धीरे यहां से भगा दिए जाएंगे.

शाह ने कहा, “जिस जमीन की बात हो रही है वह गौचर (गांव से जुड़ा) है। रोजगार को बढ़ावा देने के लिए यहां एक फैक्‍ट्री लगाने की अनुमति दी गई थी लेकिन वह प्रोजेक्‍ट कभी पूरा नहीं हुआ और जगह खाली पड़ी है। दो साल पहले, कॉम्‍प्‍लेक्‍स बनाने के लिए जमीन एक बिल्‍डर को दे दी गई। यह इलाका अशांत क्षेत्र अधिनियम के तहत आता है जिसका मतलब है कि जमीन बेचने से पहले किसी को भी जिलाधिकारी से अनुमति लेनी होगी.”
वडोदरा के पूर्व मेयर ने आगे कहा, “इस जमीन के पास में अल्‍पसंख्‍यक समुदाय रह रहा है और अगर कॉम्‍प्‍लेक्‍स में वो रहने लगे तो हम धीरे-धीरे इलाके से बाहर कर दिए जाएंगे. इसीलिए हम प्रशासन ने आश्‍वासन चाहते हैं कि ऐसा कोई पलायन न हो.” शाह ने कहा कि वे लोग पिछले दो साल से ज्ञापन सौंप रहे हैं मगर कुछ नहीं हुआ. वहीं नागरिकों का कहना है कि अगर हमारी समस्या का समाधान नहीं हुआ तो हम लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करेंगे.

सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share