Breaking News:

एक पवित्र नगरी जिसने नापाकों के लिए लगाया नोटिस और कहा कि – “इधर मत दिखना”

जब पीएम मोदी कहते हैं कि ये बदला हुआ नया भारत है तब तमाम विपक्षी राजनेता उनकी बातों का मजाक उड़ाते हैं लेकिन देश की जनता पीएम मोदी की इस बात को स्वीकार कर चुकी है कि ये हाँ ये नया भारत है जो देश की खिलाफत करने वालों को स्वीकार नहीं कर सकता.. ये नया भारत है जो मानवीयता, संवदेना तथा इंसानियत के नाम पर नापाक ताकतों को अब और बर्दाश्त नहीं कर सकता है.

साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ उतारे गये कई साधुओं को एहसास हो गया कि वो क्या कर रहे.. जारी हुआ एक वीडियो

बदले हुए नए भारत की ऐसी ही एक झलक उत्तर प्रदेश की तीर्थ नगरी प्रयागराज में देखने को मिली है जहाँ के एक होटेल मालिक ने शहर में स्थित अपने दो होटेलों में पाकिस्तानी नागरिकों को बैन कर दिया है. होटल मालिक ने बताया कि पुलवामा में CRPF के काफिले पर आतंकी हमले के बाद देशभर में पाकिस्तान के खिलाफ उपजे आक्रोश के बाद ऐसा किया गया था. इस संबंध में होटेलों में एक नोटिस भी लगाया गया था, जिस पर लिखा था कि होटल में पाकिस्तानी नागरिकों का प्रवेश वर्जित है.

राजीव गांधी पर बढ़ा घमासान… अहमद ने कहा – “राजीव की मौत की जिम्मेदार भाजपा”

ये मामला उस समय सुर्ख़ियों में आया जब गुरुवार को मामला सामने आने के बाद सिविल लाइंस स्थित होटेल से पुलिस ने नोटिस फाड़कर फेंक दिया. इससे होटेल के मालिक और कर्मचारियों में नाराजगी है जबकि पुलिस अधिकारियों का कहना है कि उन्हें नोटिस फाड़ने की जानकारी नहीं है और मामले की जांच कराई जाएगी. होटेल मिलन के मालिक हरजिंदर सिंह ने बताया कि शहर में उनके सिविल लाइंस और लीडर रोड पर दो होटेल हैं. 21 फरवरी को पुलवामा हमले के बाद देश के साथ एकजुटता दिखाने के लिए उन्होंने यह तय किया था कि दोनों देशों के संबंध बेहतर होने तक वह पाकिस्तानी नागरिकों को अपने होटेलों में कमरे नहीं देंगे.

मेरठ में हिन्दू बच्ची के साथ उन्मादियों ने की छेड़छाड़ तो उबल गया शहर.. तनाव को देखते हुए छाबनी बना इलाका

इस संबंध में एक नोटिस भी उन्होंने लगा दिया था. वैसे इस बीच कोई पाकिस्तानी नागरिक कमरा मांगने आया भी नहीं. हालांकि, आते भी तो उन्हें रूम अलॉट नहीं किया जाता लेकिन गुरुवार को कुछ पुलिसकर्मी उनके सिविल लाइंस स्थित होटेल में आए और उन्होंने जबरदस्ती नोटिस फाड़ दी. हरजिंदर ने कहा, ‘हम अपने तरीके इस बेहद क्रूर हमले का विरोध कर रहे हैं. नोटिस फाड़ने से हम होटेल में पाकिस्तानी नागरिकों को रूम नहीं देंगे. यह हमारा अधिकार है. देश का नागरिक होने के नाते हमें अगर सीमा पर भी जाना पड़े तो हम तैयार हैं.’ वहीं, एसएसपी अतुल शर्मा ने कहा कि उन्हें नोटिस फाड़े जाने की जानकारी नहीं है. वह इस मामले की जांच करवाएंगे.

10 मई – वो पावन दिन जब मेरठ से शुरू हुआ था 1857 का स्वतंत्रता संग्राम ..खुद अंग्रेजों ने लिखा है कि – “क्रांति के मुखिया बहादुरशाह जफर की जगह तात्या टोपे होते तो हम हार जाते”

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post