मां का बलात्कार घर में घुसकर कर रहा था अहमद नबी… बेटी ने छोड़ देने की गुहार लगाई तो उस पर भी टूट पड़ा


आखिर वो कौन सी सोच है जो हर नारी वर्ग को अपनी हवस की भूख मिटाने का साधन समझती है ? आखिर वह कौन सी सोच है जो अपनी हवस की पूर्ति के लिए दरिंदगी की सारी हदें पार कर देती हैं ? वह कौन सी सोच है जो अपनी दुराचारी जाहिल आदमियत वाली बहशी मानसिकता का शिकार जहाँ अपनी माँ की आयु की महिलाओं को भी बनाती है तो वहीं मासूम छोटी बच्चियों तक को भी बना लेती हैं. आखिर ये सोच आती कहाँ से हैं तथा क्या ऐसी सोच वाले व्यक्ति इंसान कहलाने लायक हैं?

इसी बहसी जाहिल आदमियत वाली सोच का शिकार उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले के ठाकुरद्वारा की एक महिला हुई हुई है जिसके साथ नबी अहमद नामक बहसी दरिन्दे ने अपने साथी अनीस और फखरुद्दीन व दो अन्य ने साथ महिला के घर में घुसकर क्रूरतम तरीके से बलात्कार की घटना को अंजाम दिया. जब महिला की बेटी अपनी माँ को बचाने आई तो दरिंदा अहमद नबी उस पर भी टूट पड़ा. युवती के शोर मचाने पर आरोपी तमंच लहराते हुए फरार हो गए.

इसके बाद सुरजन नगर रोड स्थित गांव की युवती ने न्यायालय में याचिक दायर की. इसमें कहा कि उसके गांव का अहमद नबी रास्ते में छेड़छाड़ करता था. उसका विरोध किया तो अहमद नबी, अनीस और फखरुद्दीन समेत पांच लोग ग्यारह अक्तूबर को घर में घुस आए तथा उसके साथ छेड़छाड़ करने के साथ ही मारपीट की. उसकी मां ने पहुंचकर विरोध किया तो आरोपी ने कमरे में बंद कर दुष्कर्म किया तथा उसके साथ फिर छेड़छाड़ की. युवती के मुताबिक़, पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज करने में लापरवाही की जिसके बाद कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने पांच के खिलाफ दुष्कर्म और छेड़छाड़ की रिपोर्ट दर्ज की है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...