वो विश्वास करती थी जुनैद पर और चली गई उसके साथ अपनी बहन के घर.. लेकिन वो घर नहीं बल्कि कहीं और ले गया, फिर न विश्वास बचा न इज्जत

वह जुनैद पर काफी विश्वास करती थी. एक दिन उसे अपनी बहन के घर जाना था तो जुनैद ने उसको बोला कि वह उसको उसकी बहन के घर छोड़ देगा. वह जुनैद के साथ चली गई. लेकिन जुनैद उसको बहन के घर नहीं बल्कि कहीं औरे ले गया. इसके बाद न तो उस युवती का विश्वास बचा और न ही उसकी इज्जत बच्ची. युवती को बहन के घर छोड़ने का झांसा देकर युवक जंगल में ले गया तथा वहां जबरदस्ती उसके साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया.

साधारण से सरकारी हॉस्पिटल में इलाज करा रहे एक व्यक्ति को घेर लिया लोगों ने, और दौड़ने लगे डॉक्टर व सभी.. क्योंकि उन्हें पता ही नहीं था कि ये कौन है

युवती ने विरोध किया तो उसके साथ हाथापाई की. इसके बाद जुनैद युवती को जंगल में छोड़कर फरार हो गया. बाद में पीड़िता ने घर पहुंचने के बाद नजदीकी थाना में मामला दर्ज कराया. शिकायत के बाद पुलिस आरोपी की तलाश की तथा 15 दिन की लगातार दबिशों के बाद पुलिस ने जुनैद को गिरफ्तार कर लिया. मामला छत्तीसगढ़ के जशपुर का है जहाँ युवती किराए के मकान में रहकर मजदूरी का काम करती थी. 20 अप्रैल को पीड़िता गोविंदपुर बस स्टैंड में अपनी सगी बहन के घर कमलपुर जाने के लिए बस का इंतजार कर रही थी.

एक पवित्र नगरी जिसने नापाकों के लिए लगाया नोटिस और कहा कि – “इधर मत दिखना”

इसी बीच गोविंदपुर का रहने वाला आरोपी जुनैद पीड़िता के पास बस स्टैंड पहुंच गया और पीड़िता को उसकी बहन के घर कमलपुर अपनी मोटर साइकिल में छोड़ देने की बात करने लगा. युवती उसके झांसे में आकर मोटर साइकिल में बैठ गईं. आरोपी पीड़िता की बहन के घर कमलपुर छोड़ने के बजाय गोविंदपुर और कमलपुर के बीच पड़ने वाले जंगल में ले जाकर युवती के साथ मार-पीट की, फिर बलात्कार कर फरार हो गया.

साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ उतारे गये कई साधुओं को एहसास हो गया कि वो क्या कर रहे.. जारी हुआ एक वीडियो

घटना के दो दिन बाद 22 अप्रैल को पीड़िता ने आरोपी जुनेद के खिलाफ थाने मे रिपोर्ट दर्ज कराई. पीड़िता की शिकायत पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया तथा आरोपी की तलाश में जुट गई. काफी खोजनबीन के बाद पुलिस ने आरोपी जुनैद को नारायणपुर गांव से गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने कहा कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है तथा उसके खिलाफ सुसंगत धाराओं में कार्यवाई की जायेगी.

युद्ध लड़ने वाले समुद्री युद्धपोत का इस्तेमाल घूमने वाली टैक्सी की तरह हुआ था कांग्रेस के शासन में.. एक नये आरोप से सनसनी

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post