डॉ. ताज अंसारी को सभी मानते थे जान बचाने वाले भगवान के बराबर.. वो लड़की भी, जिसकी तबाह हो गई जिन्दगी

महाराष्ट्र के कल्याण से सामूहिक बलात्कार का बेहद ही सनसनीखेज मामला सामने आया है जहाँ एक प्राइवेट हॉस्पिटल के मालिक डॉ ताज अंसारी तथा मेडिकल स्टोर के मालिक दिलदार शेख ने अस्पताल में ही काम करने वाली एक युवती के साथ गैंगरेप किया. जानकारी के मुताबिक़, मेडिकल मालिक ने लड़की के साथ हुए बलात्कार का वीडियो वायरल करने की धमकी दी तथा ब्लैकमेल करते हुए डॉ.   ताज अंसारी तथा दिलदार शेख युवती का लंबे  तक बलात्कार करते रहे. परेशान होकर पीड़िता ने कोलसेवाडी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई. जिसके बाद पुलिस ने डॉ. ताज अंसारी और मेडिकल मालिक दिलदार शेख के खिलाफ एफआईआर दर्ज की. पुलिस ने डॉक्टर को गिरफ्तार भी कर लिया है लेकिन मेडिकल दुकान मालिक दिलदार शेख फरार है.

मीडिया सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक़, पुलिस की पूछताछ में और एक बड़ी बात सामने आई है. पुलिस ने जिस डॉक्टर को गिरफ्तार किया है, वह नकली है. उसने झूठी डिग्री दिखाकर अस्पताल शुरू किया था. कल्याण के नेतिवली इलाके में हसन क्लिनिक नाम से एक छोटा अस्पताल है. इसी क्लिनिक के पास दिलदार शेख की मेडिकल दुकान भी है. ताज अंसारी के इसी अस्पताल में नाबालिग लड़की काम किया करती थी. यह लड़की काफी गरीब थी और उसे काम की काफी जरुरत थी. इसी बात का फायदा उठाते हुए ताज ने लड़की को काम से निकाल देने की धमकी दी और इसके बाद उसने लड़की के साथ अस्पताल में ही रेप किया.

इसके बाद भी कई बार ताज अंसारी लड़की के साथ यौनाचार करता रहा. इस बात की खबर जब मेडिकल मालिक दिलदार शेख को लगी तब उसने ताज और पीड़िता का एक वीडियो बनाया और इस वीडियो को वायरल करने के धमकी देते हुए लड़की से बलात्कार किया. पिछले कई दिनों से दोनो लड़की से बलात्कार करते रहे. अंत में इससे परेशान होकर लड़की ने अपने परिवार को इस बारे में सब कुछ बता दिया, जिसके बाद लड़की के परिवार ने सीधे कोलसेवाडी पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवाई. इसी शिकायत के बाद पुलिस ने ताज अंसारी को गिरफ्तार किया. पुलिस का कहना है कि दिलदार शेख को भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

Share This Post