जिसने त्यागा हिन्दू धर्म उसको त्यागा हिन्दुओ ने.. गाँव में उसके घर की तरफ देखना भी घोषित हुआ पाप

इसे उन तमाम हिन्दू संगठनों के कार्यकर्ताओं की अथाह मेहनत का सुखद परिणाम ही कहा जाएगा कि अब आम हिन्दू भी अपने धर्म की रक्षा के लिए, हिंदुत्व की रक्षा के लिए, भगवा की रक्षा के लिए न सिर्फ जागरूक हो रहा है बल्कि विधर्मी ताकतों का आगे बढ़कर मुकाबला भी कर रहा है. भले ही अभी पूरी तरह से हिन्दू समाज में धर्म रक्षा की जन चेतना न आई हो लेकिन इस शबे बाद भी बड़ी संख्या में हिन्दू समाज अब अपने धर्म पर विधर्मियों के हमले को स्वीकार करने को तैयार नहीं है बल्कि उनको जवाब दे रहा है.

दरिन्दे अकबर को कुकर्मी बताया भाजपा नेता ने तो भडक उठी कांग्रेस.. वो नेता भी भडके जो हिन्दू देवी देवताओं के अपमान पर रहते हैं खामोश

हिन्दुओं की धार्निक जन चेतना का ऐसा ही नजारा बिहार के गया के डोभी प्रखंड के शाहपुर गांव में देखने को मिला जब गाँव का एक हिन्दू परिवार धर्म परिवर्तन कर ईसाई गया. जैसे ही इस बात की जानकारी गांववालों को मिली तो गांववाले आक्रोशित हो उठे तथा धर्म परिवर्तन करने वाले परिवार का सामजिक बहिष्कार कर दिया. गांव के लोगों ने इस परिवार वालों के घर के बिजली कनेक्शन काट दिया और गांव के चापाकल से पानी लेने पर भी रोक लगा दिया है. इतना ही नहीं गांव के लोगों ने इन परिवार वालों से अलग रहने का फैसला लिया है.

7 जून: बलिदान दिवस पर नमन है “मेजर ऋषिकेश रमानी” को.. हिन्द का वो जांबाज योद्धा जिसने 12 गोलियां खाने के बाद भी 3 इस्लामिक आतंकियों को मार गिराया और खुद अमर हो गया

गांववालों ने ये भी साफ़ कर दिया है कि जो भी हिन्दू इनके घर की तरफ देखेगा, इनसे हमदर्दी जताएगा, उसका भी बहिष्कार किया जायेगा. इसके बाद धर्म परिवर्तन करने वालों का कहना है कि कि हमलोगों ने ईसाई धर्म को अपना लिया है इसलिए हमारा हुक्का पानी बंद हो गया. उन्होंने बताया की हम लोग पानी लाने जाते है तो हमारा बर्तन फेंक दिया जाता है. गांव वाले बोलते हैं कि तुम्हारे जमीन में है जो पानी लेने चले आए हो. गांव वाले बोलते है की गांव छोड़ कर चले जाओ और बिजली काट दिया गया है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं।

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW