बागपत का शहजाद ओड़ लिया भगवा और जयश्रीराम के उद्घोष के साथ फिर से चल पड़ा सत्य सनातन की राह

उत्तर प्रदेश के बागपत जनपद का रहने वाला शहजाद अब संदीप बन चुका है. लंबे समय से उथल-पुथल भरी जिन्दगी जी रहे शहजाद ने आख़िरकार सत्य सनातन की शरणागति ली तथा सनातन धर्म मंदिर जाकर जय श्रीराम का उद्घोष करते हुए भगवा ओड़ लिया. तितरौदा गांव के सनातन धर्म मंदिर में तेड़ा गांव निवासी मुस्लिम युवक शहजाद ने विधि विधान से हिंदू धर्म अपना लिया तथा इस्लाम को त्याग दिया. शहजाद अब संदीप नाम से जाना जाएगा. संदीप बबने शहजाद का कहना है कि तीन साल से ससुराल वाले उसे प्रताड़ित कर रहे थे, जिस कारण उसने धर्म बदल लिया. अब वह हिंदुओं के सभी त्योहार मनाएगा तथा सनातनी बनकर रहेगा क्योंकि अब वह शान से सर उठाकर जी सकेगा.

खबर के मुताबिक़, अमीनगर सराय में तेड़ा गांव निवासी शहजाद पुत्र यामीन ने बुधवार को तितरौदा के सनातन धर्म मंदिर में पहुंचकर धर्म परिवर्तन कर लिया. पंडित गणेश शास्त्री ने यज्ञ कर शुद्धिकरण कराया और पूजा अर्चना की. उन्होंने शहजाद को जनेऊ धारण कराया तथा उसे संदीप नाम दिया. संदीप बने शहजाद ने बताया कि पिचौकरा गांव निवासी शबाना से उसका निकाह हुआ था. उसके बाद तीन बच्चे भी हैं. उसका आरोप है कि ससुराल वाले पिछले तीन सालों से उसे प्रताड़ित कर रहे हैं. पत्नी दस दिन उसके पास रहती है और छह महीने अपने मायके में रहती है. ससुर ने भी कई बार उसकी बेइज्जती भी की. ससुराल वालों की प्रताड़ना से दुखी होकर उसने अपनी इच्छा से हिंदू धर्म अपनाया है क्योंकि यहाँ उसे जलालत भरी जिन्दगी से मुक्ति मिलेगी.

संदीप बने शहजाद ने बताया उस पर किसी ने कोई दबाव नहीं डाला बल्कि उसने स्वेच्छा इस्लाम छोड़ा है तथा सनातन को अपनाया है. सनातन अपनाने के बाद उसके मंदिर में शिवलिंग पर जलाभिषेक कर पूजा अर्चना की. इस मौके पर काफी ग्रामीण उपस्थित रहे. ग्रामीणों ने हिंदू धर्म अपनाने पर युवक का स्वागत किया और उसकी हर संभव मदद कराने का आश्वासन दिया. बजरंग दल के जिला संयोजक अमित तितरौदा ने बताया कि डॉ. शहजाद से संदीप बना युवक प्राइवेट चिकित्सक है. उसका तितरौदा गांव में क्लीनिक भी है. वह 11 साल से प्राइवेट प्रैक्टिस कर रहा है. उसने घर वापसी की है तथा हम उसके साथ हैं. एएसपी राजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि युवक ने अपनी इच्छा से धर्म परिवर्तन किया है. वह ससुरालवालों पर प्रताड़ना का आरोप लगा रहा है. यदि वह ससुरालवालों के खिलाफ लिखित में तहरीर देता है तो जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी.

Share This Post