महिलाओं को आगे कर के हिन्दुओं को मजबूर किया जा रहा धर्म त्यागने पर… 5 महिलायें पुलिस की हिरासत में

सनातन विरोधी ताकतें किस कदर धर्मान्तरण की दुकानें चला रही हैं तथा सनातन के खिलाफ साजिशें रच रही हैं, इसकी उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जनपद में देखने को मिली जहाँ ईसाई मिशनरियां महिलाओं को आगे कर धर्मान्तरण करा रही थी. मामला कुशीनगर के घोरठ गांव के पिपरा बुजुर्ग टोले का है जहाँ धर्म परिवर्तन की सूचना पर हड़कंप मच गया. गांव वालों ने महराजगंज के निचलौल से ईसाई धर्म के प्रचार-प्रसार के लिए आईं चार महिलाओं को पुलिस के हवाले कर दिया. पुलिस पिपरा बुजुर्ग गांव की उस महिला को भी साथ ले गई, जिसके घर ये महिलाएं धर्म का प्रचार कर रही थीं. सूचना मिलने पर गांव में हियुवा नेता भी पहुंच गए.

खबर के मुताबिक़, रामकोला क्षेत्र के घोरठ गांव के पिपरा बुजुर्ग की शोभा देवी ने तहरीर देकर बताया कि 17 जनवरी की रात निचलौल की एक महिला अपने साथ तीन युवतियों को लेकर आई. सभी ने एक घर में रुककर ईसाई धर्म का प्रचार शुरू कर दिया. उसने प्रचार के लिए बच्चों को रुपये का भी लालच दिया. उन्होंने बताया कि जब बच्चों ने उनकी बात नहीं मानी तो बच्चों के साथ मारपीट की गई, जिसके बाद हंगामा शुरू हो गया.

हंगामा होने पर गांव के ही किसी की सूचना पर हियुवा नेता अजय गोविंद राव शिशु, जिला महामंत्री फूलबदन कुशवाहा, संजय राव आदि गांव पहुंच गए. उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया. साथ ही फोन कर पुलिस को बुला लिया. पुलिस ने पांचों महिलाओं को हिरासत में ले लिया. एसओ राहुल कुमार सिंह के मुताबिक चारों महिलाएं अपने धर्म का प्रचार करने आई थीं. थाने में उनसे पूछताछ की जा रही है. उन्होंने कहा कि पूंछताछ के बाद उचित कार्यवाई की जायेगी.

Share This Post