Breaking News:

भगवा वस्त्र पहने लोगों को वोटों के लिए बोल दिया गया “हत्यारा”.. तेजी से मोड़ लेती भारत की राजनीति

वो दिन हिंदुस्तान ही नहीं बल्कि संसार के सभी सनातनी कभी नहीं भूलेंगे जब हिंदुस्तान की कथित सेक्यूलर राजनीति ने सनातन के पवित्र भगवा ध्वज को आतंक से जोड़ा गया था. देश के सत्ताधीशों ने मजहबी तुष्टीकरण की राजनीति में अँधा होकर अट्टाहास करते हुए हिन्दू आस्थाओं का दमन किया था तथा भगवा आतंकी बोला था. हिन्दुओं का, हिन्दू आस्थाओं का ये अपमान यहीं तक नहीं रुका था बल्कि संपूर्ण हिन्दुओं को ही आतंकी बता दिया गया था, “हिन्दू आतंकी” शब्द का प्रयोग किया गया था.

निकाह का लालच दिया, लड़की तय हो गई और अब वो दलित युवक बन गया मुसलमान.. दहाड़ें मार कर रोते घरवाले पुलिस की शरण में

अब एक बार पुनः वही इतिहास दोहराने का प्रयास करने की कोशिश की जा रही है. जिस तुष्टीकरण की राजनीति के खिलाफ देश की जनता ने 2014 में उन सभी राजनैतिक दलों को खदेड़ दिया जिन्होंने भगवा को, हिन्दुओं को आतंकी बोला था, हिन्दू आस्थाओं का दमन किया था..अब वही राजनीति एक बार पुनः दोहराने की कोशिश की जा रही है. जब देश में लोकसभा चुनाव प्रचार पूरे चरम पर है उस समय एक बार पुनः हिन्दू प्रतीकों को निशाना बनाया गया है. आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भगवा वस्त्र पहने लोगों को हत्यारा करार दिया है.

आज़मगढ़ में बीजेपी प्रत्याशी प्रत्याशी “निरहुआ” के रोड शो पर सपाईयों ने फेंके थे पत्थर.. इस पत्थरबाजी पर अब निरहुआ ने दिया ऐसा जवाब जिससे शर्मशार होंगे समाजवादी

शनिवार को पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए हिन्दुओं के अपमान की सारी सीमाओं को पार करते हुए कहा कि जो लोग गेरुआ(भगवा) वस्त्र पहने हैं वो आतंकी हैं.  भारतीय जनता पार्टी तथा राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पर ज़ुबानी हमला करते हुए ममता बनर्जी ने भगवा को निशाने पर ले लिया तथा कहा कि कि ये लोग गेरुआ कपड़ों में हत्यारे हैं. ममता के इस बयान के बाद न सिर्फ बंगाल इ देशभर के हिन्दुओं में आक्रोश है तथा ममता के बयान की आलोचना की जा रही है.

बहन को साहिल व उसके साथियों ने छेड़ा तो उबल पड़ा शहर.. वो बहन बीजेपी के एक नेता की थी

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post