Breaking News:

साधारण से सरकारी हॉस्पिटल में इलाज करा रहे एक व्यक्ति को घेर लिया लोगों ने, और दौड़ने लगे डॉक्टर व सभी.. क्योंकि उन्हें पता ही नहीं था कि ये कौन है


उनकी तबियत ख़राब हुई तो वह साधारण से सरकारी अस्पताल में इलाज कराने के लिए गये. उनकी तबियत को देखते हुए डॉक्टर्स ने उन्हें अस्पताल में भर्ती कर लिया तथा इलाज शुरू कर दिया. बाद में उनके पास लोगों की भीड़ लग गई तथा उन्हें घेर लिया. क्या अन्य मरीज तथा क्या डॉक्टर.. सभी उनकी ओर दौड़ पड़े क्योंकि वहां कोई नहीं जानता था कि वो कौन हैं. दरअसल वो व्यक्ति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चाचा जी थे, जो पहिचान छुपाकर अपना इलाज करा रहे थे.

साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ उतारे गये कई साधुओं को एहसास हो गया कि वो क्या कर रहे.. जारी हुआ एक वीडियो

मामला गुजरात के सूरत के सिविल अस्पताल का है जहाँ बुधवार को तब हंगामा खड़ा हो गया जब स्टाफ को पता चला कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चाचा कांतिलाल मोदी नाम बदलकर उनके अस्पताल में इलाज करा रहे हैं. असल में कांतिलाल मोदी ने पीएम से रिश्ते की बात इसलिए छुपाई थी क्योंकि वो नहीं चाहते थे कि उनका दूसरे लोगों के मुकाबले अतिरिक्त ख्याल रखा जाए. कांतिलाल ने इलाज के लिए भर्ती होने के दौरान किसी को भी ये नहीं बताया था कि वो पीएम मोदी के रिश्तेदार हैं. उन्होंने खुद की पहचान छिपाने की कोशिश की जिससे पीएम के रिश्ते की बात सार्वजानिक न हो.

राजीव गांधी पर बढ़ा घमासान… अहमद ने कहा – “राजीव की मौत की जिम्मेदार भाजपा”

किन अस्पताल में पूछताछ के दौरान मामला सामने आ ही गया. वे जहां रहते हैं, वहां पर भी किसी को यह नहीं बताया कि पीएम उनके भतीजे हैं. फिलहाल, हॉस्पिटल में उनका इलाज चल रहा है. कांतिलाल बुधवार काे यूरिनल इंफेक्शन पॉब्लम होने पर सिविल अस्पताल पहुंचे. डॉक्टर्स ने प्राथमिक जांच में बताया कि सुगर लेबर 223 और ब्लड प्रेशर 150 है. उन्हें मेडिसिन से सर्जरी विभाग में रेफर कर एडमिट कर लिया गया है. फिलहाल, उनकी हालत सामान्य है. लेकिन जब वह अस्पताल गये  तो उन्होंने नहीं बताया कि वह पीएम मोदी के चाचा हैं क्योंकि वो नहीं चाहते थे कि उनका दूसरे लोगों के मुकाबले अतिरिक्त ख्याल रखा जाए.

मेरठ में हिन्दू बच्ची के साथ उन्मादियों ने की छेड़छाड़ तो उबल गया शहर.. तनाव को देखते हुए छाबनी बना इलाका

बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी के भाई और अन्य परिजन ज्यादातर सामान्य जीवन जी रहे हैं. अहमदाबाद में रह रहे परिवार में किसी की तबीयत खराब होती है तो वह सिविल अस्पताल में इलाज कराते हैं. सूरत के पाल अडाजण के रुद्र रेजिडेंसी में रहने वाले 81 वर्षीय कांतिलाल मोदी रिश्ते में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चाचा हैं. कुछ समय पहले मोदी के बड़े भाई प्रहलाद मोदी की पत्नी का निधन हो गया था, तब कांतिलाल उनके अंतिम संस्कार में गए थे. तभी अचानक उनकी तबीयत खराब हो गई थी.

एक पवित्र नगरी जिसने नापाकों के लिए लगाया नोटिस और कहा कि – “इधर मत दिखना”

कांतिलाल ने बताया कि जब नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब मिलना-जुलना होता था. प्रधानमंत्री बनने के बाद उनसे नहीं मिल पाए हैं. उन्हाेंने बताया कि 15 साल से अपने बेटे के साथ सूरत में रह रहा हूं. मैंने अभी तक किसी को नहीं बताया कि पीएम नरेंद्र मोदी मेरे भतीजे हैं. हम दूसरे लोगों की तरह ही सामान्य जीवन जीते हैं. सिविल अस्पताल के अधीक्षक डॉ. गणेश गोवेकर को जब यह जानकारी मिली थी कि पीएम मोदी के चाचा का इलाज यहां हाे रहा है, तो उन्होंने फोन करके हालचाल लिया. अधीक्षक ने डाॅक्टराें काे अच्छी तरह से इलाज करने का निर्देश दिया है.

युद्ध लड़ने वाले समुद्री युद्धपोत का इस्तेमाल घूमने वाली टैक्सी की तरह हुआ था कांग्रेस के शासन में.. एक नये आरोप से सनसनी

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...