Breaking News:

अदालत में फूट-फूट कर रोया मौलवी… किसी और के चलते नहीं, खुद अपनों के कहर से

    “मौलवी का कहना है कि उसके सास-ससुर उसको प्रताड़ित कर रहे हैं. मौलवी ने अदालत को बताया है कि उसके ससुराल वालों                          ने उसकी बीबी की शादी किसी और के साथ करा दी है तथा उसकी बेटी को भी उसी के साथ भेज दिया है. मौलवी                                                            ने ससुराल वालों पर अपनी बीबी तथा बेटी को बेचने का आरोप लगाया है.”

हरियाणा के रेवाड़ी का मौलवी अदालत में फूट फूट कर रो पड़ा तथा न्यायपालिका से इन्साफ की गुहार लगाई. मस्जिद से फतवे जारी करने वाला, न्याय की बात करने वाला मौलवी जब अपनों के ही कहर से प्रताड़ित हुआ तो उसने अदालत का दरवाजा खटखटाया. मौलवी ने आरोप लगाया कि उसके सास और ससुर ने उसकी पत्नी और बेटी को बेच दिया है. उसने एसीजेएम को शिकायत देकर कार्रवाई की गुहार लगाई. इस पर मैजिस्ट्रेट ने कार्रवाई के आदेश दिए. पुलिस ने सास-ससुर व दो अन्य के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

बता दें कि रेवाड़ी की एक मस्जिद में जिला मेवात निवासी मोहम्मद हसन मौलवी के रूप में तैनात हैं. करीब दो साल पहले उनकी शादी अलवर जिले की युवती से हुई थी. उनकी एक डेढ़ साल की बेटी है. मौलवी ने एसीजेएम मोहित अग्रवाल को शिकायत दी. इसमें उन्होंने बताया कि छह माह पूर्व उनकी सास व ससुर उनकी पत्नी व बेटी को अपने साथ मायके ले गए थे. तीन दिन बाद ही ससुराल पक्ष के लोगों ने पत्नी से उनकी बातचीत बंद करा दी. कई बार प्रयास के बाद उसकी बातचीत नहीं कराई गई तो वह पत्नी को लेने ससुराल गए. सास-ससुर ने उन्हें बैरंग लौटा दिया. इस मुद्दे को लेकर मेवात में कई बार पंचायतें भी हुईं, लेकिन कोई हल नहीं निकला.

तीन माह पूर्व उनके सास-ससुर व दो अन्य लोग रेवाड़ी और पत्नी व बेटी को भेजने की एवज में 5 लाख रुपये की मांग की. उन्होंने रुपये देने से इनकार कर दिया/ उन्होंने शक जताया है कि सास-ससुर व अन्य दो लोगों ने उनकी पत्नी व बच्ची को बेच दिया है. मौलवी की शिकायत पर मोहित अग्रवाल ने तुरंत पुलिस को मामला दर्ज करने के निर्देश दिए. जांचकर्ता पुलिस अधिकारी ब्रह्मजीत ने बताया कि मौलवी की शिकायत पर पत्नी व बेटी को छिपाकर रखने का केस दर्ज किया है।.बाकी आगे जांच में जो भी सबूत सामने आएंगे, उसकी अनुसार कार्रवाई की जाएगी.

Share This Post