कर्नाटक की कुर्सी में कितने कांटे.. बोले मुख्यमंत्री- "हर दिन सह रहा हूं दर्द" - Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar -

Breaking News:

कर्नाटक की कुर्सी में कितने कांटे.. बोले मुख्यमंत्री- “हर दिन सह रहा हूं दर्द”


कर्नाटक में कांग्रेस तथा जेडीएस गठबंधन की सरकार की आपसी तनातनी एक बार फिर से सतह पर आ गई है. मीडिया के सामने कई बार अपनी पीड़ा जाहिर करने वाले कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच. डी. कुमारस्वामी ने एक बार फिर से अपना दर्द सार्वजनिक किया है. अपनी सरकार चलाने में आने वाली मुश्किलों को लेकर अपना दर्द बयान करते हुए सीएम एचडी कुमारस्वामी ने अब कहा है, ‘हर रोज दर्द में रहता हूं, लेकिन क्या करूं प्रदेश भी चलाना है.’

UP के मुरादाबाद में गिरफ्तार बलात्कारी मदरसा संचालक फुरकान.. छात्रा के साथ किया था गैंगरेप तथा बनाई थी वीडियो

कोरोना से पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

सीएम कुमारस्वामी के इस बयान को एक बार फिर से कांग्रेस और जनता दल (सेक्यूलर) के बीच चल रही अंतर्कलह के उजाहर होने से जोड़कर देखा जा रहा है. उल्लेखनीय है कि कर्नाटक में बीजेपी को सत्ता से दूर रखने के लिए 80 सीट जीतने वाली कांग्रेस ने महज 37 सीट पाने वाली जेडीएस की सरकार बनवा दी थी, लेकिन अब सरकार चलाने में कई व्यावहारिक परेशानियां आ रही हैं, क्योंकि सरकार में तो जेडीएस है तथा मुख्यमंत्री कुमारस्वामी हैं लेकिन महती भूमिका में कांग्रेस है.

दक्षिण भारत से जेपी नड्डा का शाही अंदाज में स्वागत.. चंद्रबाबू नायडू के 4 सांसदों ने ओढ़ लिया भगवा तथा बोले- “मोदी जिंदाबाद”

कर्नाटक के सीएम कुमारस्वामी ने मंगलवार को कहा, ‘मैं लोगों की अपेक्षाओं, उम्मीदों को पूरा करने का वादा करता हूं. लेकिन मैं बता नहीं सकता कि हर रोज मैं कितने दर्द से गुजर रहा हूं. मैं आपको इस दर्द के बारे में बताना चाहता हूं, लेकिन नहीं कर सकता. मैं यहां लोगों की परेशानियां हल करने के लिए गद्दी पर बैठा हूं, अपनी परेशानी बताने के लिए नहीं. मुझ पर सरकार चलाने की जिम्मेदारी है.’ कुमारस्वामी ने कहा, ‘आप सब मेरे साथ खड़े थे. आपने चाहा कि आपका भाई सीएम बने, मैं बन गया. इससे आप खुश हुए, लेकिन मैं इससे खुश नहीं हूं. गठबंधन वाली सरकार चलाने का दर्द मुझे पता है. हर रोज दर्द से गुजर रहा हूँ.’

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share