Breaking News:

अब तक देवर, ससुर से आये हलाला के मामले लेकिन ताजुद्दीन का मामला कुछ अलग था.. इसमें मना करने पर बीवी को मिली है दर्दनाक मौत


अभी तक तीन तलाक के बाद हलाला ले नाम पर मुस्लिम महिलाओं के यौन उत्पीड़न की तमाम ख़बरें सामने आती थी, यहां तक कि महिला के ससुर या देवर तक से जबरन हलाला के मामले सामने आते थे.. खैर अब तीन तलाक के खिलाफ तो क़ानून बन चुका है. लेकिन जो मामला है वो हलाला से भी ज्यादा भयावह है. रेशमा की गलती ये थी कि उसने अपने शौहर ताजुद्दीन के दोस्त के साथ शारीरिक संबंध बनाने से इंकार कर दिया था. इस बात पर ताजुद्दीन भड़क गया तथा उसने अपनी बीवी रेशमा को दर्दनाक मौत दे दी, चाकुओं से गोदकर मार डाला.

जल रहे थे माँ – बाप, और बेटा बना रहा था वीडियो.. फिर भी सस्पेंड हो गये पुलिस वाले और दर्ज हो गई उन्ही पर FIR… केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह की पुलिस के प्रति भावनाओं की कद्र क्या मथुरा में नहीं ?

मामला उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ का है. बताया गया है कि ताजुद्दीन ने पत्नी रेशमा पर चाकू से एक दो बार नहीं बल्कि आठ बार प्रहार किया था. इसमें से पांच बार पेट पर और गर्दन पर तीन बार प्रहार किया. यह खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ. रेशमा के परिजनों का आरोप है कि उसका पति अपने एक दोस्त को कमरे पर लेकर जाता था. वह उसके साथ शारीरिक संबंध बनाने का दबाव डालता था, लेकिन वह इसका विरोध करती थी. इसके चलते उसके साथ मारपीट करता था.

दिव्यांग महिला तक को नहीं छोड़ा हवस के पुतले जावेद ने.. आँखों में अभी भी तैर रही दरिंदगी

मृतक रेशमा के भाई रियाज ने बताया कि रविवार रात करीब आठ बजे वह अपनी बहन रेशमा से मिलने गया था. उसकी बहन के गर्दन पर चोट का निशान लगा था. उससे पूछा तो रेशमा ने बताया कि वह सिढ़ी पर गिर गई थी, जिससे उसके चोट लग गई. जब उसने कहा था कि क्या बहनोई ने फिर से मारपीट की है, इस पर वह चुप हो गई. फिर मना करने लगी. वह रात करीब नौ बजे वापस लौट आया. रियाज का कहना है कि शनिवार को भी उसके बहनोई ने उसकी बहन के साथ मारपीट की थी.

केजरीवाल के मुस्लिम विधायक बेकाबू.. अमानतउल्लाह खान के कारनामो के बाद अब चर्चा में हाजी इशहाक जिन पर दर्ज हुई FIR

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक रेशमा को नशीला पदार्थ खिलाया गया था. इससे यह स्पष्ट होता है कि उसके शौहर ने पहले खुद नशीले पदार्थ का सेवन किया और उसके बाद पत्नी को भी नशीला पदार्थ खिलाया. ऐसा इसलिए क्योंकि पति ताजुद्दीन बेहोशी की हालत में कमरे में मिला था. अगर वह होश में होता तो घटना को अंजाम देने के बाद फरार हो जाता. पुलिस ने रेशमा के हत्यारोपी शौहर ताजुद्दीन को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया है. पुलिस के मुताबिक पेट खराब होने से उसे पेचिश हो गई है. कई बार अस्पताल का बेड भी खराब कर चुका है. पुलिस कस्टडी में उसका उपचार जारी है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...