Breaking News:

अब तक “जय श्रीराम” पर था बवाल.. अब जैसे ही उड़ा भगवा अबीर वैसे ही बरसना शुरू हो गया कहर.. ये सेक्यूलर भारत के एक प्रदेश का हाल


कथित सेक्यूलरिज्म की राजनीति कितनी भयावह हो सकती है, इसको अगर देखना है तो पश्चिम बंगाल घूम आइये. वहां कोई समझाएगा नहीं बल्कि आपको स्वतः ही समझ आ जाएगा. वो पश्चिम बंगाल जहाँ की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जयश्रीराम का उद्घोष करने पर भड़क उठती हैं तथा जयश्रीराम का उद्घोष करने वालों को चेतावनी देती हैं कि वह उनकी खाल उधेड़वा देंगी.

अब बाराबंकी में रंजीत की 8 साल की बेटी बनी सलीम की हवस का शिकार. प्रार्थना करें उस मासूम के लिए जिसकी हालत है गम्भीर

लेकिन ममता बनर्जी शासित बंगाल का कथित सेक्यूलरिज्म यहीं पर ख़त्म नहीं होता. अभी तक बंगाल में जयश्रीराम बोलने पर बवाल हो रहा था तो अब भगवा रंग उड़ाने पर भी सवाल खड़े हो गये हैं. खबर के मुताबिक़, पश्चिम बंगाल के पुरुलिया जिले में तब भगदड़ मच गई, जब पुलिस ने बीजेपी समर्थकों पर लाठी चार्ज कर दिया. बताया जा रहा है कि विवाद की वजह भगवा रंग का अबीर था जो पुलिस वालों पर गिर गया था लेकिन इस मामूली सी बात पर पश्चिम बंगाल पुलिस के बहादुर जवान इतने नाराज हो गए कि निहत्थे बीजेपी कार्यकर्ताओं पर बेरहमी से लाठियां बरसानी शुरु कर दी.

ममता राज में कमरुल जमाल बिजली चेक करने के बहाने घुसता था घरों में और बलात्कार के बाद डाल देता था महिलाओं के गुप्तांगों में रॉड

बता दें कि सोमवार की शाम को पुरुलिया जिले के बलरामपुर थाना इलाके में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने अपनी पार्टी की जीत की खुशी में जुलूस निकाला था. फतेहपुर गांव से शुरु हुए इस जुलूस के साथ बंगाल पुलिस के जवान भी चल रहे थे. इस जुलूस में बीजेपी कार्यकर्ता भगवा रंग का अबीर उड़ाते हुए चल रहे थे. बताया जा रहा है कि हवा में उड़ाए गए अबीर का कुछ हिस्सा जुलूस के साथ चल रह पुलिसकर्मियों पर भी गिर गया. जिसके बाद बंगाल पुलिस के जवानों ने अंधाधुंध लाठीचार्ज करना शुरू कर दिया.

दरिन्दे अकबर को कुकर्मी बताया भाजपा नेता ने तो भडक उठी कांग्रेस.. वो नेता भी भडके जो हिन्दू देवी देवताओं के अपमान पर रहते हैं खामोश

इस मामले को लेकर पश्चिम बंगाल बीजेपी के नेताओं ने दावा किया है कि उनकी रैली में गड़बड़ी फैलाने के लिए तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता लाठियां लिए हुए खड़े थ,। जिसकी खबर मिलने पर उन्होंने पुलिस को सूचित किया था. लेकिन रैली की सुरक्षा में तैनात जवान अचानक उत्साहित कार्यकर्ताओं के बीच घुस गए. जिसकी वजह से उन्हें भी अबीर लग गया. जिसके बाद उन्होंने बहुत क्रूर तरीके से लाठी चार्ज कर दिया.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें- नीचे लिंक पर जाऐं।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share