वो सेक्यूलर लड़की आज चीख कर बता रही है कि कि उसके साथ क्या हुआ ? .. कभी सबको समझती थी एक जैसा इंसान


दुनिया आगे बढ़ती जा रही है लेकिन इन लोगों को हिन्दू-मुसलमान करने से ही फुरसत नहीं है. उनकी ये सोच उन हिन्दू संगठनों को लेकर थी जो धर्म जागरण का काम करते हैं. वो कहते थे कि उनके लिए हिन्दू मुसलमान कोई मायने नहीं रखता है बल्कि वह इंसानियत को मानते हैं तथा इन भगवा गमछा वालों की तरह नफरत नहीं फैलाते. बिल्कुल यही संस्कार उन्होंने अपनी बेटी को दिए थे तथा बेटी भी भगवा गमछा वालों से बेहद नफरत करती थी तथा उन्हें समाज में नफरत, ईर्ष्या फैलाने का कारण मानती थी.

लेकिन फिर ऐसा हुआ कि उन सबको न सिर्फ भगवा गमछा वाले बल्कि उनकी हर बात न सिर्फ याद आने लगी बल्कि सच भी लगने लगी. आज उनकी बेटी लव जिहाद का शिकार हो चुकी है. उसको अनवर लव जिहाद में फंसाकर भगा ले गया. इसके अनवर ने उसका धर्म परिवर्तन उसे मुसलमान बना दिया तथा निकाह कर लिया. 4 साल तक अनवर ने उसे अपने साथ रखा. इस दौरान उसने एक बच्चे को भे जन्म दिया. अब अनवर ने उसे तीन तलाक देकर गहर से बाहर निकाल दिया है.

मामला उत्तर प्रदेश के हापुड का है. जानकारी के अनुसार, हापुड़ जनपद में वर्ष 2014 में नगर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला रफीक नगर में पीड़िता की माँ अपने परिवार के साथ किराए के मकान में रहती थी. उसके साथ उनकी बेटी भी साथ रहती थी. एक दिन मां काम पर बाहर गई हुई थी. तभी मोहल्ले का ही रहने वाला अनवर पुत्र मोहम्मद शफी उसे बहला-फुसलाकर भगा ले गया. इस मामले में नगर कोतवाली हापुड़ में मुकदमा दर्ज हुआ. मुकदमा दर्ज होने के बाद किशोरी की मां अलीगढ़ क्षेत्र में जाकर रहने लगी.

उधर, अनवर द्वारा यौन शोषण किए जाने के चलते किशोरी प्रेग्नेंट हो गई. उसे एक बच्चा हुआ. फिर अनवर ने उसका मजहब चेंज कराकर उसका नाम रजिया रख दिया. बाद में अनवर ने अपने उूपर लगे केस को हटवाने के ​लिए उसने रजिया से अपहरण वाले केस में समझौता लिखवा लिया. रजिया के बेटे का खतना भी करा दिया. आखिर में अनवर ने 4 सितंबर 2019 के दिन रजिया को मारपीट कर घर से निकाल दिया. उसे तीन तलाक दे दिया. रजिया किसी तरह अपनी मां के पास पहुंची. अब रजिया तथा उसकी मां ने पुलिस में शिकायत दर्ज कर न्याय की मांग की है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...