Breaking News:

सिर्फ AK – 47 ही नहीं फेसबुक भी बन चुका है जिहाद का औज़ार …. पहले निकाह किया फिर तबाह किया


पर दोस्ती करने से पहले सावधान हो जाएं। अगर आपके पास किसी अजनबी की फ्रेंड रिक्वेस्ट आई है तो उसे एक्सेप्ट करने से पहले पूरी जांच कर लें। अगर आप उस व्यक्ति को नहीं जानते तो उसकी रिक्वेस्ट न स्वीकार करें। तमाम ऐसे मामले आए हैं कि फर्जी नाम व आइडी से लोग फेसबुक आइडी बनाकर युवतियों से दोस्ती कर प्रेम जाल में फंसा कर धोका दे जाते है।

लेकिन फिर भी लोग अनजान से बात कर उनसे दोस्ती कर प्यार कर जाते है और बाद में जो भी होता उसका अंजादा भी नही लगा सकते। ऐसा ही कुछ हुआ ग्वलियर की युवती के साथ जिसे फेसबुक पर एक अजनबी से दोस्ती करना भारी पड़ गया।

दरअसल, हजीरा क्षेत्र में रहने वाली युवती की दोस्ती फेसबुक पर अमन झा नाम नाम के युवक से कुछ माह पहले हुई। अमन ने अपने बारे में बताया कि वो अनाथ है और उसके माता-पिता एक सड़क हादसे में मारे गए।

जिसके बाद अनीता ने अमन को अपने परिवार से मिलाया और दोनों को रिश्ता तय हो गया। अनीता के परिजन ने धूमधाम से दोनों की शादी को करवा दी। शादी के बाद अमन अनीता को लेकर जयपुर चला गया। करीब डेढ़ माह बाद पता चला कि अमन ने अपनी सामाज की नाहिद नाम की महिला से दूसरी शादी से कर ली है। बता दें कि अमन का असली नाम अरमान खान है।

युवती ने बताया कि अरमान ने उसका धर्म परिवर्तन करवाने का प्रयास किया, जिसका विरोध करने पर मारपीट कर बंधक बना दिया। बहुत साहस करने के बाद अखिरकार युवती ने अपने आपको उस हैवान से पिछा छुड़ाया और अपने परिजनों को पूरी बात बताई। जिसके इसके साथ ही युवती ने बताया बाद अरमान ने परिजनों को धमकाने का प्रयास भी किया लेकिन इसकी भनक हिंदू संगठन को लग गई तो युवती व उसके परिजनों को हौसला देते हुए ग्वालियर थाने में शिकायत के लिए तैयार किया। जहां पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी अरमान, भूरे खान, कनीजा बेगम, महतर और आरिफ के खिलाफ विभिन्न धारा व धर्मांतरण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share