दंगों के बाद अब बाड़ में भी राजनीति. एक मुख्यमंत्री कह रही है कि पानी जानबूझ कर मौड़ा गया है…

पश्चिम बंगाल की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है। कभी हिंसा कभी बाढ़ ममता बनर्जी लगातार मुश्किलों में पड़ते नजर आ रही है। हर साल बंगाल में बरसात में हावड़ा, हुगली, पश्चिम मेदिनीपुर, वीरभूम व बर्दवान जिले के इलाकों में बाढ़ जैसे हालात हो जाते है। इस बार भी ऐसी ही स्थिति बनी हुई है। जिसके वजह से लोगों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। इन इलाकों में सरकार ने अलर्ट जारी कर दिया है। हर साल इस बाढ़ से किसानों को नुकसान उठाना पड़ता है, कितने लोगों को घर छोड़ कर जाना पड़ता है। कितने जानवार मारे जाते हैं।

पश्चिम बंगाल में आई बाढ़ की इस स्थिति के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दामोदर वैली कार्पोरेशन को जिम्मेदार ठहराया है। ममता बनर्जी ने कहा कि यह मानव निर्मित बाढ़ है। मैंने प्रधानमंत्री मोदी से इस विषय पर बात करते हुए उनसे गुजारिश किया है कि वे ये सुनिश्ति करें कि दामोदर वैली कार्पोरेशन से पश्चिम बंगाल में और पानी न छोड़ा जाए। हम दामोदर वैली कार्पोरेशन को लंबे समय से कम मात्रा में पानी छोड़ने के लिए कह रहैं है जिससे की इससे होने वाले नुकसानों को कम किया जा सके।
आपको बता दें कि इससे पहले बंगाल के सिंचाई मंत्री राजीव बनर्जी भी दामोदर वैली कार्पोरेशन से कम मात्रा में पानी छोड़ने को कह चुके हैं। गौरतबल है कि दामोदर वैली कार्पोरेशन बंगाल में पानी छोड़ता है जिसकी वजह से बंगाल के कुछ हिस्सों में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो जाती है। जिसके बाद ममता बनर्जी का ये बयान आया है। जिसके बाद ममता बनर्जी ने आरोप लगाया की सब केंद्र सरकार की करनी है।  
Share This Post

Leave a Reply