Breaking News:

बीरेन सिंह के सीएम बनते ही मणिपुर में खत्म हुई आर्थिक नाकेबंदी

इंफाल : मणिपुर में करीब पांच महीने से जारी यूनाइटेड नगा काउंसिल की आर्थिक नाकेबंदी रविवार रात समाप्त हो गई। केंद्र सरकार, राज्य सरकार और नगा समूह के बीच सफल वार्ता के बाद 130 दिनों की आर्थिक नाकेबंदी को खत्म कर दिया गया है। गौरतलब है कि राज्य में पूर्व मुख्यमंत्री इबोबी सिंह की अगुवाई वाली कांग्रेस सरकार के सात नए जिले बनाये जाने के फैसले के खिलाफ यूएनसी ने एक नवंबर, 2016 को आर्थिक नाकेबंदी शुरू की थी।

सेनापति जिला मुख्यालय में आयोजित त्रिपक्षीय वार्ता के बाद जारी एक संयुक्त बयान में कहा गया है कि यूएनसी नेताओं को बिना शर्त रिहा किया जाएगा और आर्थिक नाकेबंदी को लेकर नगा जनजातीय नेताओं और छात्र नेताओं के खिलाफ चल रहे मामलों को खत्म किया जाएगा। बयान पर केंद्रीय गृह मंत्रालय में संयुक्त सचिव सत्येंद्र गर्ग, अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) जे सुरेश बाबू और मणिपुर सरकार के आयुक्त (कार्य) राधाकुमार सिंह और यूएनसी महासचिव एस मिलन और ऑल नगा स्टूडेंट्स असोसिएशन के अध्यक्ष सेठ सतसंग के हस्ताक्षर हैं।

हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव के बाद सूबे में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी और बिरेन सिंह को मुख्यमंत्री बनाया गया। नई सरकार के इस कदम की राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला ने सराहना की है। उन्होंने कहा कि आर्थिक नाकेबंदी के खत्म होने से राज्य में शांति और समृद्धि आएगी। दो राष्ट्रीय राजमर्गों- एनएच-2 और एनएच-37 पर नाकेबंदी से राज्य में आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में भारी वृद्धि हो गई थी और सामान्य जन-जीवन प्रभावित हुआ था। राज्य में हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में यह एक बड़ा मुद्दा बना रहा।

Share This Post