योगीराज में आजमगढ़ के वो तमाम हुए भूमिगत जिन पर आरोप था आतंक को पालने पोषने का


देश भर में अभी भी आंतकी अपनी हरकतें करते नजर आ रहें है। आपको बता दे कि सीरियल बम धमाकों के मामले में आतंकियों की मदद करने वाले 6 लोग फरार हो गए हैं। जब आजमगढ़ के सरायमीर थाने की पुलिस ने हिस्ट्रीशीट में उनका नाम देखा तो वे अंडरग्राउंड हो गए। इसी के चलते पुलिस और खुफिया विभाग ऐसे लोगों जानकारी में जुट गई हैं।

गौरतलब हैं कि भूमिगत वाले लोग किसी न किसी तरीके से इनकी मदद कर रहे थे।

वहीं, संदिग्ध आतंकी जिन गांवों से ताल्लुक रखते हैं, वहां लोग भी परेशान हैं। पिछले दिनों दिल्ली में बटला एनकाउंटर के बाद सरायमीर थाना क्षेत्र के संजरपुर गांव के रहने वाले युवकों के नाम की जानकारी हुई। हांलाकि इनमें से कई युवक ने अपने आप में सुधार किया हैं। लेकिन अभी भी कई युवक गोपनीय तरीके से सक्रियता बनाए हुए हैं।

खुफिया विभाग की मानें तो सरायमीर थाना क्षेत्र के संजरपुर गांव निवासी डा. शहनवाज, शादाब उर्फ बड़ा साजिद उर्फ जुनैद चिकना, अबू राशिद, राशिद उर्फ सुल्तान, आसिफ, आफताब आदि ने अपने पुराने साथियों के नक्शे कदम पर चलते हुए इस्लामिक मूवमेंट को आगे बढ़ाने का काम शुरू कर दिया था। इन लोगों की जानकारी मिलने के बाद से ही ये लोग फरार हैं। 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...