बलात्कारी मौलाना बना देवबंद में अशांति की वजह. आक्रोश सडक से अदालत तक


वो शान से अपने नाम में मौलाना लगा कर खुद को एक पूरे समाज का प्रतिनिध बताता था. ऊपर से उसका ठिकाना देवबंद बन गया था जो मुसलमानों के तालीमी इदारे के रूप में प्रसिद्ध है. पर उसने एक महिला से बलात्कार किया . तब से क़ानून के साथ जनता भी उसकी दुश्मन बनी हुई है .

ये बात हो रही है मौलाना मसूद मदनी की. जो नामी मौलाना महमूद मदनी के रिश्ते में भाई हैं. खास बात तो ये है कि इस बलात्कारी मौलाना का भाई महमूद मदनी मुसलमानो की एक नामी संस्था जमीयत उलेमा ए हिन्द नाम का इस्लामी संगठन चलाता है और मुल्क के मुसलमानो की लंबी ठेकेदारी लिए घूमता है.  योगी राज में अचानक बदली देवबंद पुलिस ने उसे शुक्रवार की देर रात को गिरफ्तार कर लिया था , योगी राज में पूरी तरह सक्रिय पुलिस ने शिकायत के कुछ ही समय के भीतर ही कार्यवाही को अंजाम दिया . पिछली सरकार में इस मौलाना के परिवार का रुतबा काफी बड़ा था और इसलिए इनके काले कारनामो पर पुलिस इतनी सक्रियता नहीं दिखाती थी.

कल जेल से मौलाना की पेशी के दौरान जनता का आक्रोश मौलाना को देख कर अचानक ही फूट पड़ा और पेशी के ही दौरान जनता उसे मारने दौड़ पड़ी. पुलिस ने जनता के आक्रोश से मौलाना को जैसे तैसे बचाते हुए फिर से जेल में दाखिल किया. तमाम हिन्दू संगठन मौलाना को कड़ी सज़ा दिलाने के लिए सड़कों पर आ चुके हैं. उनका कहना है कि गिरफ्तार मौलाना को किसी भी प्रकार से सज़ा दिला कर ही दम लिया जाएगा. फिलहाल क्षेत्र में मौलाना की इस घृणित करतूत से शांतिमय आक्रोश बना हुआ है . 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...