28 साल की लड़की को भगा ले गया मौलवी… मौलवी की उम्र है 70 साल


70 साल के उस मौलवी को उस 28 वर्षीय युवती की देखभाल के लिए रखा गया था. लेकिन मौलवी शातिर था तथा उसने इस बहाने युवती को अपने जाल में फंसाया तथा उसे लेकर भाग गया. मामला उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर के अहरौरा थाना क्षेत्र का है. परिजनों की शिकायत पर पुलिस मामले की जांच में जुटी है. मौलवी द्वारा युवती को भगाकर ले जाने के बाद परिजनों के होश फाख्ता हैं.

अपना मकान हर किसी को दे देती थी वो.. असल में वो सेक्यूलर थी और अब जला दी गई उसकी बेटी आमिर के हाथों

मीडिया सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक़, अहरौरा थाना क्षेत्र की रहने वाली युवती की शादी तीन साल पहले चुनार में हुई थी. कुछ दिन पहले युवती ने परिजनों को फोन किया था कि उसकी तबीयत सही नहीं है. जब घर वाले उसे लेने के लिए पहुंचे तो युवती के ससुराल में सत्तर वर्षीय मौलवी भी वहां रूका हुआ था. परिजनों ने जब पूछताछ किया तो पता चला कि मौलवी ससुराल वालों का परिचित है और उसे देखभाल के लिये रखा गया है. जब परिजन युवती की विदाई के लिए दबाव देने लगे तो युवती के ससुर ने कहा कि जहां लड़की रहेगी यह मौलवी भी उसकी देख रेख के लिए रहेंगे.

जिस सैम पित्रोदा के खिलाफ देश मांग रहा था कार्यवाही उसके साथ कुछ ऐसी पेश आई कांग्रेस.. वो हुआ जो सोचा भी न था

16 मार्च 2019 को युवती को साथ लेकर परिजन अहरौरा आ गए मगर एक घंटे बाद मौलवी भी घर पर पहुंच गया और वह युवती को दिखाने के बहाने अपने साथ ले गया. परिजनों को विश्वास दिलाने के लिए तीन दिनों तक मौलवी रोज बाहर निकलता और वापस घर लौट आता. 20 तारीख को जब मौलवी युवती को डॉक्टर को दिखाने के बहाने बच्चे के साथ लेकर घर से गया, मगर अभी तक वापस नही लौटा. परिजनों ने मामले में अहरौरा थाने में तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है.

भगवान जगन्नाथ की मूर्ति हाथों में देख आग बबूला


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share