एक पूरा गाँव पहुंच गया SP ऑफिस.. बोला- “जीने नहीं दे रहे गांव के मुसलमान”


मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले के करेली थाना क्षेत्र के छीतापार गाँव से हैरान करने वाला सामने आया है जहाँ पूरा का पूरा गाँव SP ऑफिस पहुंचकर सुरक्षा की गुहार  लगा रहा है. गाँव छीतापुर के सैकड़ों ग्रामीणों का कहना है कि गाँव के मुसलमानों ने उनका जीना दूभर कर रखा है. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश तिवारी को पुलिस अधीक्षक के नाम सौंपे गये ज्ञापन में ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि गांव में बड़ी तादाद में रहने वाले समुदाय विशेष(मुस्लिम) के लोग सरकारी जमीनों के साथ-साथ यहां के रहवासियों की निजी भूमि पर जबरन कब्जा कर रहे हैं.

इस्लामिक मुल्क इंडोनेशिया में अपने अधिकारी की गंदी बातें और गंदी मांग को फोन में टेप कर न्याय मांगने वाली महिला का हुआ ये हाल

ग्रामीणों का कहना है कि विरोध किये जाने पर वे अभद्रता व मारपीट तक कर देते हैं. ग्रामीणों का आरोप है कि उक्त तत्व अनेक बार हमें गांव से भगाने की धमकी भी दे चुके हैं. इनका कहना है कि ऐसी स्थिति में गांव के सांप्रदायिक सौहार्द को खतरा है, लेकिन करेली पुलिस शिकायत किये जाने के बाद भी आरोपियों पर कार्रवाई न कर उन्हें प्रोत्साहित कर रही है. ग्रामीणों ने कहा कि यदि इन तत्वों द्वारा हमारे खिलाफ थाने में कोई झूठी शिकायत भी कर दी जाती है तो पुलिस हम पर कार्रवाई में देर नहींं लगाती जबकि हमारी शिकायत पर पुलिस इनके खिलाफ कोई कार्यवाई नहीं कर रही है.

7 माह की गर्भवती महिला पर इसलिए किया हमला, क्योंकि वो बीजेपी कार्यकर्ता थी.. दरिंदगी का नया रूप

ग्रामीणों ने पुलिस अधीक्षक को दिये आवेदन में कहा कि यदि यही हालात रहे तो हमारा गांव में रह पाना भी मुश्किल होगा. इनकी शिकायती पत्र में कुछ आरोपियों के नाम भी दिये गये हैं जो ग्रामीणों के विरूद्ध अपने समाज के लोगों को भड़काने का काम करते हैं. एक महिला ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को बताया कि उक्त तत्वों द्वारा न सिर्फ उसके साथ मारपीट की गयी बल्कि छेड़छाड़ भी की गयी. महिला के अनुसार उसने इसकी शिकायत करेली थाना में की थी किंतु पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई नहींं की. ग्रामीणों द्वारा अनावेदकों को प्राप्त राजनैतिक संरक्षण की जानकारी भी अधिकारियों को दी गयी. एक बुजुर्ग व्यक्ति ने 4 लोगों पर आरोप लगाया कि वे उसकी जमीन हड़पने का प्रयास कर रहे हैं.

11 जुलाई – “विश्व जनसंख्या दिवस” पर संकल्प लीजिये धर्म और राष्ट्र की रक्षा के अंतिम विकल्प “जनसंख्या नियंत्रण कानून” के लिए सुरेश चव्हाणके जी के साथ संघर्ष का तथा आज पहुँचिये जंतर-मंतर

बुजुर्ग ने कहा कि मना करने पर वे गाली-गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी देते हैं. बुजुर्ग ने यह भी बताया कि उसे वे पुलिस के सामने भी गाली दे चुके हैं, पर पुलिस ने कुछ नहींं किया. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश तिवारी ने उपस्थित ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि पुलिस जाति-धर्म देखकर कार्रवाई नहींं करती, जो जिसने अपराध किया है, उसे उसका दंड भुगतना होगा. एसपी नरसिंहपुर डॉ. गुरूकरन सिंह ने कहा कि ग्रामीणों का ज्ञापन प्राप्त हुआ है, इस मामले में विधिवत कार्रवाई होगी. पूर्व में जो शिकायतें की गयी थीं उनकी जांच चल रही है, उन्हे भी संज्ञान में लेकर जांच कार्रवाई करवायी जायेगी.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...