आतंक परस्त ओवैसी का अटल विरोधी पार्षद 1 साल तक रहेगा पुलिस की हिरासत में.. पहले भी हुई थी बेरहमी से पिटाई…

भारत रत्न पूर्व प्रधानमन्त्री अटल बिहारी वाजपेयी जी की श्रद्धांजलि सभा का विरोध करने वाले आतंक परस्त ओवैसी की पार्टी के औरंगाबाद महानगर पालिका के पार्षद सय्यद मतीन राशिद को महाराष्ट्र पुलिस ने जमीन सुंघाने की तैयारी कर ली है. खबर के मुताबिक़. ओवैसी की पार्टी का पार्षद सय्यद मतीन राशिद एक महीने तक पुलिस हिरासत में रहेगा. आपको बता दें कि जब सय्यद मतीन राशिद ने सदन में अटल जी की श्रद्धांजलि सभा का विरोध किया था जब भाजपा तथा शिवसेना के पार्षदों ने सदन में ही सय्यद मतीन राशिद की जमकर पिटाई की थी.

खबर के मुताबिक़, इसके बाद एआईएमआईएम पार्षद को शराब के अवैध कारोबार और कुछ अन्य आरोपों में गिरफ्तार किया गया था तथा अब वह 1 साल तक पुलिस हिरासत में रहेगा. पुलिस के एक अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि औरंगाबाद से ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (एआईएमआईएम) के पार्षद सय्यद मतीन सैयद राशिद (32) को महाराष्ट्र खतरनाक गतिविधि निरोधक अधिनियम (एमपीडीए) के तहत गिरफ्तार कर लिया गया. अधिकारी ने बताया, ’17 अगस्त को औरंगाबाद महानगरपालिका की आम सभा की बैठक में मतीन ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने वाले एक प्रस्ताव का विरोध किया था, जिसके बाद भाजपा के कुछ पार्षदों ने कथित तौर पर उसकी पिटाई कर दी थी. अधिकारी ने बताया कि इसके बाद सिटी चौक थाने ने मतीन को आईपीसी की धारा 153-ए (विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देने), 153 (दंगा भड़काने के इरादे से जानबूझकर उकसाना) और 294 (सार्वजनिक तौर पर अश्लील हरकत करना) के तहत गिरफ्तार कर लिया था.

थाने के वरिष्ठ निरीक्षक डी एस सिंघाड़े ने बताया, ‘पार्षद को औरंगाबाद स्थित हर्सुल जेल भेज दिया गया था और उन्हें मंगलवार को जमानत मिल गयी थी। उसी दिन हमने शहर के पुलिस आयुक्त द्वारा एमपीडीए के तहत दिए गए आदेश से अवगत करा दिया था.’ उन्होंने बताया कि मतीन के खिलाफ पूर्व में भी दो मामले दर्ज हुए थे. सिंघाड़े ने कहा, ‘उनके आपराधिक रिकॉर्ड का विश्लेषण करने के बाद हमने पाया कि वह खतरनाक व्यक्ति है और दो समुदायों के बीच शत्रुता पैदा कर सकता है.’ एमपीडीए के प्रावधानों के मुताबिक पार्षद एक साल तक हिरासत में रहेगा.


 

Share This Post