आदेश नहीं बल्कि निवेदन कर रहे हैं मंत्री जी कि – “इस बकरीद पर गाय न काटना”

बकरीद आने वाली है तथा इस बात की आशंका जताई जा रही है कि नकली धर्मनिरपेक्षता के कथित नारों के बाद भी तमाम मजहबी कट्टरपंथी बकरीद पर हिन्दू समाज की आस्थाओं से खिलवाड़ करते हुए गौमाता को काट सकते हैं. ऐसी आशंकाएं इसलिए जताई जा रही हैं क्योंकि इससे पहले बकरीद पर तमाम राज्य सरकारों द्वारा रोक के बाद भी मुस्लिम समाज के लोगों ने जबरन गाय काटी है तथा इसके बाद सांप्रदायिक सद्भाव भी बिगड़ा है.

बकरीद को लेकर उपजी इन्हीं तमाम आशंकाओं के बीच दक्षिण भारत के राज्य तेलंगाना की केसीआर सरकार में गृह मंत्री मोहम्मद मह्मूद अली ने बड़ा बयान दिया है. महमूद अली ने मुस्लिमों से बकरीद पर गाय न काटने का निवेदन किया है. महमूद ली द्वारा मुस्लिमों से गाय न काटने के निवेदन पर सवाल खड़े हो रहे हैं क्योंकि महबूब अली एक राज्य के गृहमंत्री हैं, राज्य की सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी उनके ही हाथ में है लेकिन इसके बाद भी गाय न काटने का आदेश जारी नहीं कर पा रहे हैं बल्कि निवेदन कर रहे हैं.

हैदराबाद के चार मीनार के पास मीडिया को संबिधित करते हुए तेलंगाना के गृह मंत्री मोहम्मद महमूद अली ने कहा है कि मैं सभी मुस्लिम भाइयों से अपील करता हं कि वह गाय की कुर्बानी देने से परहेज करें. इसके बजाय अन्य जानवरों की कुर्बानी दें. आप भेड़ या किसी अन्य जानवर की कुर्बानी दे सकते हैं. महमूद अली ने गाय न काटने का निवेदन तथा अपील तो की है लेकिन गृहमंत्री होने के बाद भी वह इसके  खिलाफ आदेश जारी नहीं कर पाए.

Share This Post