नाबालिग दलित बच्ची से भीम आर्मी के गढ़ में हुआ सामूहिक बलात्कार.. बलात्कारी है दानिश व उसके साथी

दलित समाज का हितैषी होने का दम भरने वाले संगठन भीम आर्मी व उसके मुखिया चंद्रशेखर रावण की जुबान को उस समय ताला लग गया जब उन्हीं के गढ़ मुजफ्फरनगर में नाबालिग दलित बच्ची के साथ तमंचे की नौक पर क्रूरतम तरीके से सामूहिक दुष्कर्म किया गया. बच्ची के मुस्लिम समाज के 5 दरिंदों ने दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया. पीड़िता नाबालिग के भाई की तहरीर पर आरोपी पाँचों युवकों को गिरफ्तार कर लिया है. हिन्दू संगठन के कार्यकर्ताओं के आक्रोश को देखते हुए क्षेत्र में भारी पुलिस बल तैनात करना पड़ा.

मामला मुजफ्फरनगर के रतनपुरी थानान्तर्गत आने वाले गाँव फुलेट का है. पुलिस को दी गई तहरीर में दुष्कर्म पीड़िता के भाई ने बताया है कि करीब पांच दिन पहले 17 साल की उसकी नाबालिग बहन खेत में चारा लेने गयी थी. बच्ची को अकेला देख वहां मौजूद 5 युवकों ने उसका अपहरण कर गन्ने के खेत ले जाकर तमंचे के बल पर बारी-बारी से उसके साथ दुष्कर्म किया. आरोपियों ने इसकी वीडियो भी बना ली. युवकों ने बच्ची को धमकाया कि अगर यह बात किसी को भी बतायी तो जान से मार डालेंगे. धमकी के डर से बच्ची ने बात किसी को नहीं बतायी.

इसके बाद बलात्कारियों ने दुष्कर्म का पूरा वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया. रविवार को इस वीडियो की जानकारी जब पीड़िता के परिजनों को हुई तो उनके होश उड़ गए. पूछताछ में पीड़िता ने आपबीती बतायी. पीड़िता के भाई की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. थाना इंचार्ज रतनपुरी कमल सिंह चौहान ने बताया कि पीड़िता के भाई तहरीर के आधार पर गांव निवासी दानिश, उमामा, फरीद, माज, और सबूर पुत्र गजनफर के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म, आईटी एक्ट, पॉक्सो और एससी/एसटी एक्ट की संगीन धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है.

Share This Post