मदरसे में फिर एक बच्ची के साथ मौलवी की दरिंदगी.. कहीं हथियार तो कहीं बलात्कार

पिछले दिनों ही केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने रिपोर्ट जारी की थी जिसमें बताया गया था पश्चिम बंगाल में कुछ मदरसे आतंकी गतिविधियों का केंद्र बन रहे हैं. केन्द्रीय गृह मंत्रालय की ये रिपोर्ट भले ही पश्चिम बंगाल के मदरसों को लेकर थी लेकिन बंगाल ही नहीं देशभर के तमाम मदरसों से संदिग्ध व अपराधिक कृत्यों की ख़बरें सामने आ रही हैं. अभी हाल ही में उत्तर प्रदेश के बिजनौर के एक मदरसे से हथियारों का जखीरा बरामद किया गया था तो वहीं अब आन्ध्र प्रदेश के एक मदरसे में मौलवी द्वारा नाबालिग बच्ची के साथ बलात्कार का मामला सामने आया है.

भयानक बारिश से बंगलादेश के कैम्प में मरे 10 रोहिंग्या . कई घायल

मामला आंध्रप्रदेश के गुंटूर जिले के दाचेपल्ली के चापलगड्डा के मदरसे का  है जहाँ मदरसे के मौलवी ने नाबालिग बच्ची के साथ डरा धमकाकर न सिर्फ बलात्कार किया बल्कि इसके बाद बच्ची के साथ जबरन निकाह भी पढ़ लिया. बताया गया है कि तालीम की पढ़ाई करने के लिए चापलगड्डा के मदरसे विविध प्रांतों से 60 बालिकाओं ने मदरसे में प्रवेश लिया हुआ है. शेख मुफ्ति अब्दुल सत्तार इस मदरसे में मौलवी है और वो ही बालिकाओं को पढ़ाते भी है. उसकी शादी हो चुकी है और तीन बच्चे भी हैं.

सम्मानित होंगे वो सभी सांसद जिन्होंने शपथ ली थी देवताओं की वाणी संस्कृत में

प्राप्त हुई जानकारी के मुताबिक़, मदरसे की एक 17 साल की बालिका पर शेख की बुरी नजर थी. उसने उस बालिका का यौन उत्पीड़न किया. गुरुवार को अन्य छात्राओं ने इन दोनों को साथ देख लिया और सबको बता दिया. इसके बाद पीड़ित बच्ची के अभिभावक सहित तमाम अन्य लोग मदरसा पहुंचे तथा हंगामा करने लगे. बात आगे बढ़ने पर अब्दुल सत्तार ने कहा कि उसने पिछले सप्ताह ही बालिका से निकाह किया था इसलिए कोई उसे उससे अलग नहीं कर सकता.

कोलकाता के बलात्कारी मौलवी को मीडिया क्यों बता रहा तांत्रिक ? हिन्दुओं के खिलाफ आखिर कौन कौन एक साथ ?

मौलवी की ये बात सुन लोग आक्रोशित हो गये तो मौलवी वहां से भाग खड़ा हुआ. इस बीच किसी ने पुलिस को मामले की जानकारी दी. सूचना मिलते ही आनन फानन में पुलिस मौके पर पहुँची तथा मौलवी के खिलाफ कार्यवाई का भरोसा दिलाते हुए लोगों को शांत कराया. इसके बाद आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के समक्ष पीड़ित बालिका का बयान रिकॉर्ड किया गया. बालिका ने कहा कि अब्दुल सत्तार ने उसको डरा-धमकाकर उसका यौन उत्पीड़न किया और फिर जबरदस्ती उसके साथ निकाह भी किया. बालिका के बयान को ध्यान में रखकर पुलिस ने अब्दुल सत्तार पर केस दर्ज कर लिया है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

Share This Post